Railway to regularize cost of food items on trains

| May 4, 2018

ट्रेनों में खानपान की अधिक कीमतों पर लगेगी लगाम, मेन्यू का मिलेगा खाना और निर्धारित कीमत पर होगा भुगतान, कैश का झंझट खत्म, 26 ट्रेनों में वेंडरों को थमाई पीओएस मशीनें 17 और ट्रेनों के खानपान वेंडरों को मिलेगी जल्दी ही पीओएस मशीनें

रेलवे ने यात्रियों को हाईजेनिक भोजन की बिक्री उचित रेट पर करवाने के लिए भुगतान व्यवस्था को डिजीटाईज करने का फैसला किया है। ट्रेनों में खानपान वस्तुओं की अधिक कीमत नहीं वसूल पाएंगे। रेलवे ओर से निर्धारित मेन्यू का खानपान मिलेगा और उसका भुगतान निर्धारित कीमत पर होगी। कीमत वसूलने में कोई गड़बड़ी न हो, लिहाजा खानपान ठेकेदारों के वेंडरों को प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) की मशीनें दे दी गयी हैं।








फिलहाल 26 ट्रेनों में यह व्यवस्था लागू की गयी है जबकि 17 और ट्रेनों में जल्द शुरू किया जाएगा। इस व्यवस्था के आने के बाद ट्रेनों में अब केवल लाइसेंसी ठेकेदारों के खानपान वेंडर ही भोजन की बिक्री कर सकेंगे वह भी केवल उसी मेन्यू के बेच सकेगें जो आईआरसीटीसी द्वारा स्वीकृत होगा। दरअसल रेलवे वेडरों के पास जो पीओएस रहेगा उसमें भोजन के वस्तुओं और उसकी दरों को भी पहले से ही फीड किया हुआ होगा। वेंडर केवल उन्हीं वस्तुओं का पैसा डेबिट अथवा क्रेडिट कार्ड से काट सकेगा जिसके बारे में पीओएस में पहले से फीड हुआ रहेगा। इसका दोहरा लाभ होगा एक तो वेंडर गलत बनायी करके मनमानी पैसा ग्राहक से नहीं वसूल पाएगा दूसरा वह कोई टिप आदि की फरमाइश भी नहीं कर पाएगा। साथ ही छुट्टा न होने का बहाना बना कर वह ज्यादा पैसा भी अपनी जेब में नहीं रखा पाएगा। इससे अवैध रूप से वेंडिंग करने वाले वेंडरों की छुट्टी हो जाएगा।




IRCTC की चेतावनी, ट्रेन में ऑनलाइन भोजन मंगाते समय रहें सावधान

ट्रेन में सफर के दौरान यदि आप ऑनलाइन भोजन मंगाते हैं तो सावधान रहें। कई ऐसी कंपनियां भी इस कारोबार में हैं, जिन्हें रेलवे इसके लिए अधिकृत नहीं किया है। इसलिए भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आइआरसीटीसी) ने यात्रियों को ऐसी कंपनियों से बचने की सलाह दी है जो अनधिकृत रूप से ट्रेनों में खाना बेच रहे हैं। इनसे खाना लेने पर इसकी गुणवत्ता की जिम्मेदारी रेलवे की नहीं होगी।




आइआरसीटीसी का कहना है कि रेलयात्री, खाना गाड़ी, खाना ऑनलाइन, ट्रैवल जायका, फूड इन ट्रेन, फूड ऑन व्हील, रेल रसोई, ईरेल ट्रेनों में भोजन उपलब्ध कराने के लिए अधिकृत नहीं हैं। इस संबंध में पिछले दिनों आइआरसीटीसी ने ट्वीट भी किया था।

वहीं, सफर के दौरान रेल यात्रियों को मनपसंद भोजन मंगाने में परेशानी नहीं हो, इसके लिए मेन्यू ऑन रेल मोबाइल एप शुरू होगा। आइआरसीटीसी की ओर से जारी होने वाले इस एप से यात्री ट्रेन की श्रेणी के अनुसार ऑनलाइन खाना ऑर्डर कर सकेंगे। इसके जरिये चार श्रेणी की ट्रेनों में यात्रियों को भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। पहली श्रेणी में मेल, एक्सप्रेस और हमसफर ट्रेनें होंगी। दूसरी श्रेणी में राजधानी, शताब्दी और दूरंतो ट्रेनें शामिल की गई हैं। तीसरी श्रेणी में गतिमान और चौथी श्रेणी में तेजस ट्रेन शामिल हैं। यह एप एंड्रॉयड के साथ ही आइओएस दोनों प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध होगा। इसमें भोजन और उसकी कीमत के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.