CRB may contest loksabha election from Bhopal, says news report

| April 15, 2018


प्रदेश सहित देश भर में अपनी कार्य कुशलता का लोहा मनवा चुके भारतीय रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सीआरबी अश्विनी लोहानी, अगले साल होने वाले आम चुनाव में भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा के प्रत्याशी हो सकते हैं। राजनीति से जुड़े जानकारों का मानना है कि पिछले साल अगस्त में सीआरबी (चेयरमैन रेलवे बोर्ड) का पद संभालने के बाद लोहानी ने मध्यप्रदेश को लेकर खासी दिलचस्पी दिखाई है। यही कारण है कि रेलवे के सबसे प्रतिष्ठित राष्ट्रीय रेलवे पुरस्कार जिसे कि एमआर अवार्ड भी कहा जाता है, को झीलों की नगरी भोपाल में आयोजित किया जा रहा है। इससे पहले लोहानी एयर इंडिया के प्रबंध निदेशक, दिल्ली डिवीज़न के डीआरएम, राष्ट्रीय रेल संग्रालय के निदेशक, मध्य प्रदेश पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक भी रह चुके हैं। रेलवे बोर्ड से जुड़े सूत्रों की माने तो लोहानी भोपाल से जुड़े सभी प्रोजेक्ट पर पैनी निगाह रखते हैं। वहीं सीआरबी बनने के बाद लोहानी भोपाल के तीन दौरे कर चुके हैं। हलाकि इन दोरों में के निजी दौरा भी शामिल था।







सीएम हाउस से भी जुड़ाव

लोहानी की कार्य कुशलता और लोकप्रियता से मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी काफी प्रभावित हैं। इतना ही नहीं, प्रदेश भाजपा के कई बड़े नेतायों और जनप्रतिनिधियों से भी लोहानी के घनिष्ठ सम्बन्ध बताए जाते हैं। हाल ही में लोहानी सपत्नी सहित शिवराज को निमंत्र्ण देने भी पहुंचे थे।

दिसम्बर में हो रहे रिटायर

लोहानी इसी साल के अंत में रिटायर हो रहे हैं। कयास लगाए जा रहे थे कि लोहानी को मोदी सरकार एक्सटेंशन देने का विचार भी कर रही है। लेकिन भोपाल से लगाव व लोगों के बीच उनकी लोकप्रियता को देखते हुए अमित शाह और नरेंद मोडी उन्हें भोपाल सीट से लोकसभा में लाने का विचार भी कर रहे हैं। इसमें कोई शक नहीं कि ईमानदार छवि वाले अश्विनी लोहानी को भोपाल वासी काफी पसंद करते हैं।




मोदी की भी पसंद

भाजपा और राजनितिक विश्लेषकों की माने तो लोहानी की उपलब्धियों और लोकप्रियता से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी प्रवाभित हैं। यही कारण है कि कई नियमों को शिथिल करके लोहानी को रेलवे की कमान सौंपी गयी थी। अगस्त 2017 में सीआरबी का पद ग्रहण करने के बाद, लोहानी की रेल कर्मचारियों के बीच अच्छी खासी लोकप्रियता है। आम आदमी की तरह रेलवे कैंटीन में खाना खाते या पढ़ी कुलियों के बीच जमीन पर बैठ क्र बाते करते हुए उनकी फोटो काफी वायरल हुई थी। जिसकी चर्चा प्रधानमंत्री कार्यालय और अमित शाह तक पहुंची थी।




उपलब्धियां

मध्य प्रदेश विकास निगम निगम के निदेशक के तौर पर लोहानी ने कई सरहनीय कार्य किये। उनकी मेहनत का ही नतीजा था, कि प्रदेश में न केवल पर्यटकों की संख्या में इजाफा हुआ बल्कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी मध्य प्रदेश को पहचाल मिली।

जबरदस्त घाटे में चल रही एयर इंडिया कंपनी को भी लोहानी के अनुभव का फायदा हुआ और कम्पनी का ऑपरेशनल घाटा काफी कम हो गया।

चार शाखायों (इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल, मेटलर्जिकल एवम इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्यूनिकेशन) से इंजीनियरिंग करने पर लिम्का बुक आफ रिकॉर्ड में भी लोहानी का नाम दर्ज है।

दुनिया के सबसे पुराने स्टीम इंजनों में से एक इंजन फेयरी क्वीन एक्सप्रेस ट्रेन चलाने पर लोहानी का नाम गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है।

Source:- The Current Story

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.