रेलवे भर्ती परीक्षा 2018: जानिए ग्रुप डी और ग्रुप सी के 90000 पदों के लिए कैसे होगा फाइनल सेलेक्शन

| April 2, 2018

Railway Recruitment 2018 RRB 90000 vacancy – रेलवे में निकली 90 हजार भर्तियों के लिए आवेदन का दौर खत्म हो गया है। एप्लाई करने की अंतिम तिथि 31 मार्च थी जो कि निकल चुकी है। इस बंपर वैकेंसी के लिए करीब पौने तीन करोड़ युवाओं ने आवेदन किया है। जाहिर है कि इतने अधिक  उम्मीदवारों के आवेदन करने से प्रतियोगिता भी और कड़ी हो गई है। ये रेलवे की अब तक की सबसे बड़ी भर्ती प्रक्रिया है। रेलवे भर्ती बोर्ड ने ग्रुप सी (असिस्टेंट लोको पायलट और टेक्नीशियन) के 26502 और ग्रुप डी (गैंगमैन, खलासी, गेटमैन, प्वांइटमैन आदि) के 62907 पदों पर भर्तियां निकाली हैं। अब वक्त है तैयारी को लेकर रणनीति बनाने का। लेकिन तैयारी करने से पहले पूरी चयन प्रक्रिया के बारे में भी पता होना चाहिए। उम्मीदवार को इस बारे में पता होना चाहिए कि उसे अपना लक्ष्य पाने के लिए कितने पड़ाव पार करने होंगे। यहां हम परीक्षा के उन्हीं पड़ावों को समझेंगे जिनसे होकर उम्मीदवार को गुजरना होगा। तो जानिए परीक्षा की पूरी चयन प्रक्रिया








ग्रुप डी के लिए कैसे होगा सेलेक्शन
– इन पदों के लिए तीन स्टेज होंगे – 1. सीबीटी (कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट) 2. पीईटी (फिजिकल एफिशियंसी टेस्ट). 3. डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन

1. सबसे पहले होने वाले कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट में 100 प्रश्न पूछे जाएंगे। परीक्षा देने के लिए उम्मीदवारों को 90 मिनट का समय मिलेगा। विभिन्न श्रेणियों के लिए क्वालिफाइंग प्रतिशत अलग-अलग होगा। अनारक्षित श्रेणी के लिए यह 40 प्रतिशत, ओबीसी श्रेणी के लिए 30 प्रतिशत, एससी श्रेणी के लिए 30 प्रतिशत और एसटी श्रेणी के लिए भी 30 प्रतिशत निर्धारित किया गया है।

2. कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट की मेरिट के आधार पर उम्मीदवारों को पीईटी (फिजिकल एफिशियंसी टेस्ट) के लिए बुलाया जाएगा (कुल वैकेंसी की संख्या से दोगुने)। इस टेस्ट में केवल क्वालिफाई करना जरूरी होगा। फाइनल मेरिट तय करने में इसकी कोई भूमिका नहीं होगी।

3. पीईटी में क्वालिफाई करने वालों को कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट में प्रदर्शन के आधार पर डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाएगा।

——–

ग्रुप सी (असिस्टेंट लोको पायलट व टेक्नीशियन) के लिए इस तरह होगा सेलेक्शन
पूरी चयन प्रक्रिया में ये चरण होंगे – 1. फर्स्ट स्टेज सीबीटी (कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट), 2. सेकेंड स्टेज सीबीटी, 3. कंप्यूटर बेस्ड एप्टीट्यूड टेस्ट और 4. डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन।




एएलपी और टेक्नीशियन पदों पर भर्तियों के लिए दो चरणीय परीक्षा (फर्स्ट स्टेज सीबीटी और सेकेंड स्टेज सीबीटी) कॉमन होगी। फर्स्ट स्टेज सीबीटी में सफल उम्मीदवारों को ही सेकेंड स्टेज सीबीटी के लिए बुलाया जाएगा। जिन उम्मीदवारों ने असिस्टेंट लोको पायलट के पद पर आवेदन किया है उन्हें सेकेंड स्टेज सीबीटी पास करने के बाद कंप्यूटर बेस्ड एप्टीट्यूड टेस्ट (एटी) देना होगा।

———–

असिस्टेंट लोको पायलट 
1. फर्स्ट स्टेज सीबीटी (कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट), 2. सेकेंड स्टेज सीबीटी, 3. कंप्यूटर बेस्ड एप्टीट्यूड टेस्ट और 4. डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन।

1. फर्स्ट स्टेज CBT
पहले स्टेज की कंप्यूटर बेस्ड लिखित परीक्षा 1 घंटे की होगी जिसमें 75 प्रश्न पूछे जाएंगे। परीक्षा क्वालिफाई करने के लिए अनारक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को 40%, ओबीसी उम्मीदवारों को 30%, एससी को 30% और एसटी उम्मीदवारों को 25% अंक हासिल करने होंगे। इस टेस्ट में आपको न्यूतम अंक लाने होगें नहीं तो आपको यहीं रोक दिया जाएगा, आगे प्रक्रिया में आप शामिल नहीं हो सकते हैं। ये परीक्षा एएलपी और टेक्नीशियन दोनों पदों के लिए कॉमन होगी।




2. सेकेंड स्टेज सीबीटी- फर्स्ट स्टेज CBT में अच्छा प्रदर्शन करने वाले उम्मीदवारों को सेकेंड स्टेज सीबीटी के लिए बुलाया जाएगा (कुल वैकेंसी की संख्या से 15 गुना)।
इस स्टेज में दो पार्ट होंगे – पार्ट ए और पार्ट बी
पार्ट A

पार्ट ए के लिए 90 मिनट का समय मिलेगा और इसमें 100 प्रश्न होंगे। इसे क्वॉलिफाई करने के लिए भी अनारक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को 40%, ओबीसी उम्मीदवारों को 30%, एससी को 30% और एसटी उम्मीदवारों को 25% अंक हासिल करने होंगे।

पार्ट B
पार्ट बी लिखने के लिए 1 घंटे का समय होगा। इममें कुल प्रश्नों की संख्या 75 होगी। पार्ट बी क्वॉलिफाई करने के लिए सभी श्रेणी के उम्मीदवारों 35% अंक हासिल करने होंगे। पार्ट बी में ट्रेड सिलेबस के प्रश्न आएंगे। संबंधित ट्रेड का सिलेबस DGET (रोजगार एवं प्रशिक्षण महानिदेशालय) की वेबसाइट से देख सकते हैं। इस टेस्ट में केवल क्वालिफाई करना जरूरी होगा। फाइनल मेरिट बनते समय इसके प्राप्तांक नहीं जुड़ेंगे।

3. कंप्यूटर बेस्ड एप्टीट्यूड टेस्ट
ये चरण केवल असिस्टेंट लोको पायलट के लिए होगा। सेकेंड स्टेज सीबीटी के पार्ट B क्वालिफाई करने वाले उम्मीदवारों को पार्ट A के प्राप्ताकों के आधार पर कंप्यूटर बेस्ड एप्टीट्यूड टेस्ट के लिए बुलाया जाएगा (एएलपी की कुल वैकेंसी का आठ गुना)।
इसमें चरण में सभी वर्गों के उम्मीदवारों को कम से कम 42 नंबर लाने होगें, किसी प्रकार की छूट नहीं होगी।
इसके क्वेशन पैटर्न के लिए उम्मीदवार RDSO की वेबसाइट ( www.rdso.indianrailways.gov.in -> Directorates -> Psycho Technical
Directorate -> Candidates Corner ) पर जा सकते हैं।

4. डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन 
आखिरी चरण डॉक्टूमेंट वेरिफिकेशन का होगा। सेकेंड स्टेज पार्ट बी क्वालिफाई करने वाले उम्मीदवारों को सेकेंड स्टेज पार्ट ए और कंप्यूटर बेस्ड एप्टीट्यूड टेस्ट (AT) में प्रदर्शन के आधार पर डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाएगा।

—————

टेक्नीशियन

1. फर्स्ट स्टेज सीबीटी (कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट), 2. सेकेंड स्टेज सीबीटी 3. डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन।
1. फर्स्ट स्टेज CBT

पहले स्टेज की कंप्यूटर बेस्ड लिखित परीक्षा 1 घंटे की होगी जिसमें 75 प्रश्न पूछे जाएंगे। परीक्षा क्वालिफाई करने के लिए अनारक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को 40%, ओबीसी उम्मीदवारों को 30%, एससी को 30% और एसटी उम्मीदवारों को 25% अंक हासिल करने होंगे। इस टेस्ट में आपको न्यूतम अंक लाने होगें नहीं तो आपको यहीं रोक दिया जाएगा, आगे प्रक्रिया में आप शामिल नहीं हो सकते हैं। ये परीक्षा एएलपी और टेक्नीशियन दोनों पदों के लिए कॉमन होगी।

2. सेकेंड स्टेज सीबीटी- फर्स्ट स्टेज CBT में अच्छा प्रदर्शन करने वाले उम्मीदवारों को सेकेंड स्टेज सीबीटी के लिए बुलाया जाएगा (कुल वैकेंसी की संख्या से 15 गुना)।
इस स्टेज में दो पार्ट होंगे – पार्ट ए और पार्ट बी
पार्ट A

पार्ट ए के लिए 90 मिनट का समय मिलेगा और इसमें 100 प्रश्न होंगे। इसे क्वॉलिफाई करने के लिए भी अनारक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को 40%, ओबीसी उम्मीदवारों को 30%, एससी को 30% और एसटी उम्मीदवारों को 25% अंक हासिल करने होंगे।

पार्ट B
पार्ट बी लिखने के लिए 1 घंटे का समय होगा। इममें कुल प्रश्नों की संख्या 75 होगी। पार्ट बी क्वॉलिफाई करने के लिए सभी श्रेणी के उम्मीदवारों 35% अंक हासिल करने होंगे। पार्ट बी में ट्रेड सिलेबस के प्रश्न आएंगे। संबंधित ट्रेड का सिलेबस DGET (रोजगार एवं प्रशिक्षण महानिदेशालय) की वेबसाइट से देख सकते हैं। इस टेस्ट में केवल क्वालिफाई करना जरूरी होगा। फाइनल मेरिट बनते समय इसके प्राप्तांक नहीं जुड़ेंगे।

3. डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन
सेकेंड स्टेज पार्ट बी में क्वालिफाई करने वाले उम्मीदवारों को सेकेंड स्टेज पार्ट ए में प्रदर्शन के आधार पर डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाएगा।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.