फिर निकलेंगी रेलवे में नई भर्तियां 90 हजार नए रेलकर्मियों की भर्ती से नहीं चलेगा काम

| March 19, 2018

फिर निकलेंगी रेलवे में नई भर्तियां 90 हजार नए रेलकर्मियों की भर्ती से नहीं चलेगा काम नवम्बर-दिसम्बर तक पूरी हो जाएगी मौजूदा भर्ती प्रक्रिया

रेलवे में एक वर्ष तक भर्ती का सिलसिला थमने वाला नहीं है। 90 हजार रेलकर्मियों की भर्ती से रेलवे का काम चलने वाला भी नहीं है। लिहाजा, जैसे ही 90 हजार रेलकर्मियों की भर्ती के लिए प्रक्रिया पूरी होगी, वैसे ही नई भर्ती के लिए प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। नवम्बर-दिसम्बर तक करीब 80 हजार पदों के लिए आवेदन मांगे जा सकते हैं।








यह सभी भर्तियां फ्रंटलाइन रेलकर्मियों के लिए होंगी, जिससे रेलवे का परिचालन सुचारू रूप से चलता रहे। तेरह लाख रेलकर्मी वाले भारतीय रेलवे में ट्रेनों के परिचालन के लिए फ्रंटलाइन रेलकर्मियों की हमेशा जरूरत बनी रहती है। यह फ्रंटलाइन रेलकर्मी चाहे गैंगमैन हों, प्वाइंट मैन हों या गार्ड, लोको पायलट या स्टेशन मास्टर।




यह सब ट्रेन परिचालन के लिए एक-दूसरे से जुड़े रहते हैं। यदि इनकी कमी हो जाए तो रेल परिचालन प्रभावित हो लगता है। मौजूदा समय में ऐसे रेलकर्मियों की बहुत जरूरत है, क्योंकि कई वर्षो से पर्याप्त संख्या में इन रेलकर्मियों की भर्ती नहीं हुई हैं। धीरे-धीरे रेलकर्मियों का बैकलॉग बढ़ता जा रहा था। आखिरकार रेलवे को करीब डेढ़ माह पहले 90 हजार रेलकर्मियों की भर्ती के लिए ऐलान करना पड़ा।

इस भर्ती अभियान में केवल फ्रंटलाइन रेलकर्मियों की भर्ती हो रही हैं, जिनमें मुख्य रूप से लोको पायलट, तकनीशियन और रेललाइनों पर काम करने वाले गैंगमैन, प्वाइंटमैन और कीमैन के पद हैं। सूत्रों के अनुसार, जिस तरह से रेलमंत्री पीयूष गोयल सुरक्षा और संरक्षा को प्राथमिकता दे रहे हैं, उस लिहाज से उन्होंने 90 हजार पदों के लिए भर्ती खोली है। इन पदों के लिए 31 मार्च तक आवेदन मांगे गए हैं। उम्मीद है कि इसके लिए दो करोड़ से अधिक ऑनलाइन आवेदन आएंगे।




आवेदन की प्रक्रिया पूरी होते ही अप्रैल-मई में परीक्षा होगी। ऑनलाइन परीक्षा होने से परीक्षा परिणाम भी सितम्बर-अक्टूबर तक आ जाएंगे। इसके बाद चयनित अभ्यर्थियों का प्रशिक्षण शुरू होगा और प्रशिक्षण के बाद उनकी नियुक्तियां शुरू होंगी। हालांकि केवल 90 हजार रेलकर्मियों की भर्ती से काम नहीं चलने वाला है। जिस तरह से बैकलॉग है, रेलकर्मी सेवानिवृत्त हो रहे हैं और ट्रेनों की संख्या बढ़ रही हैं, उस लिहाज से फ्रंटलाइन रेलकर्मियों की बहुत जरूरत है। बताया जाता है कि डेढ़ लाख रेलकर्मियों की भर्ती एक साथ निकलने वाली थीं, लेकिन इसे दो बार में करने का फैसला लिया गया है। अभी 90 हजार रेलकर्मियों की भर्ती की प्रक्रिया चल रही है। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद नवम्बर-दिसम्बर तक 80 हजार पद नई भर्ती के लिए निकलेंगे।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.