बजट 2018: रेल यात्रियों की सुरक्षा के लिए ये बड़ा ऐलान कर सकती है सरकार

| January 28, 2018

लोगों का सफर सुरक्षित बनाने के लिए भारतीय रेल प्रतिबद्ध है। रेलवे का सफर यात्रियों के लिए आरामदायक के साथ सुरक्षित भी इसके लिए भारतीय रेलवे देश भर के स्टेशनों और ट्रेनों में 12 लाख सीसीटीवी कैमरे लगाने जा रही है।

लोगों का सफर सुरक्षित बनाने के लिए भारतीय रेल प्रतिबद्ध है। रेलवे का सफर यात्रियों के लिए आरामदायक के साथ सुरक्षित भी इसके लिए भारतीय रेलवे देश भर के स्टेशनों और ट्रेनों में 12 लाख सीसीटीवी कैमरे लगाने जा रही है। रेलवे इसके लिए बजट में 3000 करोड़ का ऐलान कर सकती है। जी हां देश की 11,000 ट्रेन और 8,500 स्टेशन पर यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए इस साल आम बजट में 3000 करोड़ के कोष का ऐलान कर सकती है।







11ट्रेनों में लगने वाले सीसीटीवी कैमरे ट्रेन के कोच में आठ की संख्या में होंगे जो गेट, कॉरीडोर और पूरे कोच के चप्पे चप्पे पर निगाह रखेंगे। फिलहाल 395 स्टेशन और 50 ट्रेन सीसीटीवी से लैस हैं। रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक रेलवे सभी मेल, एक्सप्रेस और प्रीमियर ट्रेन शताब्दी, राजधानी, दुरंतो, लोकल पैसेंजर सभी ट्रेनों में अगले दो सालों में सीसीटीवी कैमरे लगा देगी। सीसीटीवी कैमरों के चलते सभी यात्रियों की सुरक्षआ सुनिश्चित करने में भारतीय रेल को मदद मिलेगी।




रेलवे ट्रेनों और स्टोशनों पर सीसीटीवी लगाने पर आने वाले 3000 करोड़ के खर्च को पूरा करने के लिए अलग अलग माध्यम तलाश रही है। जरूरत पड़ने पर रेलवे इसके लिए बाजार का रुख भी कर सकती है। 2017 में हुए रेल हादसों के बाद, बजट 2018 में वितत् मंत्री अरुण जेटली जरूर रेलवे यात्रियों की सुरक्षा और ऐसे हादसों को भविष्य में टालने के लिए जरूर रेलवे के इंफास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए कुछ बड़े ऐलान कर सकते हैं।



वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक इस बार बजट में 4,943 मानवरहित क्रासिंग हटाने, पुराने ट्रेक की जगह नए ट्रेक लगाने जैसे बड़े बदलावों का ऐलान इ,स साल के बजट में किया जा सकता है। रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक सबसे ज्यादा रेल हादसे मानवरहित क्रासिंग के चलते होते हैं। लिहाजा सरकार 2020 तक सभी प्रकार की मानवरहित क्रासिंग को खत्म करना चाहती है।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.