रेलवे ने ली सेना से टक्कर, 2 महीनों में बनाया एफओबी

| January 15, 2018

मुंबई: पिछले वर्ष ऐलफिंस्टन रोड स्टेशन पर हुए दर्दनाक हादसे के बाद मुंबई उपनगरीय नेटवर्क पर सुरक्षा की दृष्टि के कई बदलाव नजर आने लगे हैं। सुरक्षा को पुख्ता करने और यात्रियों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए हादसे के तुरंत बाद रेल मंत्रालय ने मध्य रेलवे के परेल, करी रोड और आंबिवली स्टेशन पर भारतीय सेना की मदद से तीन महीने के भीतर फुटओवर ब्रिज बनाने का काम शुरू कर दिया। भारतीय रेलवे में शायद इस तरह का पहला प्रयास हुआ होगा, जहां किसी परियोजना को युद्धस्तर पर पूरा करने के लिए सेना की मदद ली गई। दूसरी ओर रेलवे महकमे ने भी इस बात को सकारात्मक तौर पर लेते हुए अन्य स्टेशनों पर सेना के ‘त्रैमासिक’ टारगेट से पहले ही एफओबी बना लेने का प्रण किया था। मध्य रेलवे के लोकमान्य तिलक टर्मिनस, विद्याविहार और तिलक नगर स्टेशन पर लगभग 2 महीनों में एफओबी बना चुकी है। 26 जनवरी को इनका लोकार्पण किया जाएगा।








रेलमंत्री ने की थी तारीफ

शनिवार को मनी लाइफ फाउंडेशन द्वारा बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में आयोजित एक परिचर्चा के दौरान रेलमंत्री पीयूष गोयल ने मध्य रेलवे के इस ‘प्रण’ की तारीफ की थी। परिचर्चा के दौरान गोयल ने कहा, ‘रेलवे में सालों पुरानी पद्धति अपनाई जा रही थी, जिसके चलते छोटे से छोटे काम को पूरा करने के लिए महीनों लग जाते थे। ऐलफिंस्टन हादसे के बाद सेना की मदद इसीलिए ली गई क्योंकि युद्धस्तर पर काम करने में वे सक्षम हैं और निविदा प्रक्रिया से बचा जा सकता है। लेकिन मध्य रेलवे के महाप्रबंधक ने इस बात को सकारात्मक तौर पर लिया और सेना से पहले ही एफओबी तैयार कर दिए।’




24 घंटे में पूरी की थी निविदा प्रक्रिया

एलटीटी, तिलक नगर और विद्याविहार स्टेशन पर बन रहे एफओबी के लिए नवंबर 2017 में निविदाएं निकाली गई थीं। 14 नवंबर 2017 को एलटीटी पर बनने वाले एफओबी के लिए तो 24 घंटे के अंदर अंतिम रूप से मंजूरी दे दी गई थी।

मंडल रेल प्रबंधक एसके जैन ने बताया कि यात्रियों को अधिकाधिक सेवाएं प्रदान करने की कोशिशों के फलस्वरूप लोकमान्य तिलक टर्मिनस पर नए एफओबी की निविदा प्रक्रिया 24 घंटे के अंदर पूरी करके अंतिम मंजूरी देने का रिकॉर्ड बनाया। निविदा 14 नवंबर 2017 को दोपहर 12.00 बजे खोली गई और स्वीकृति के सभी कार्य उसी दिन पूरे किए गए। उसी प्रकार निविदा मंजूरी के पत्र संबंधित ठेकेदार को दिए गए। ठेकेदार की ओर से भी स्वीकृति पत्र उसी दिन लिए गए।




लोकमान्य तिलक टर्मिनस की नई स्टेशन बिल्डिंग के नजदीक मुंबई छोर पर यह एफओबी बनाया गया। पांच प्लैटफॉर्मों को जोड़ने वाले इस एफओबी की चौड़ाई 6 मीटर और लंबाई 23.5 मीटर है। इस ए‌फओबी की अनुमानित लागत 2.97 करोड़ रुपये है।

‘मध्य रेलवे पर दो महीनों में ही एफओबी का काम पूरा कर लेना अपने आप में एक सराहनीय कार्य है। इसके लिए संबंधित अधिकारी दिन रात लगे रहे। विद्याविहार, एलटीटी और तिलक नगर स्टेशन के अलावा भी कुछ स्टेशनों पर रिकॉर्ड समय में काम हो रहा है।’

-डीके शर्मा, महाप्रबंधक (मध्य रेलवे)

Source:- NBT

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.