Interesting – Chairman Railway Board went on to inspect on his own, leaving others amazed

| January 10, 2018

सेलून से गायब हो गए सीआरबी, खलबली, सीआरबी अश्विनी लोहानी आधे घंटे के लिए सेलून से गायब हो गए। सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए उन्हें लेने पहुंचे अफसरों…

सीआरबी अश्विनी लोहानी आधे घंटे के लिए सेलून से गायब हो गए। सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए उन्हें लेने पहुंचे अफसरों को जब पता चला कि सीआरबी बिना बताए कहीं चले गए हैं तो अफसरों में खलबली मच गई। जीएम तक खबर पहुंच गई। उनकी तलाश शुरू हुई। कुछ देर में सीआरबी पैदल आते हुए दिखाई दिए तो अफसरों को राहत मिली, लेकिन उनकी नींद उड़ गई।








दिनभर की थकान के बाद सीआरबी के इंटरटेनमेंट के लिए सतपुड़ा रेस्ट हाउस में सांस्कृतिक कार्यक्रम रखा गया था। लगभग 8.15 बजे सीआरबी लोहानी ने सेलून में जाकर आराम करने की बात कही और चल दिए। अफसरों का साथ छोड़कर वे चले गए। कुछ अफसर ही बाक्सिंग ग्राउंड के पीछे खड़े सेलून तक गए और सीआरबी के अंदर प्रवेश करते ही सभी लौट गए। उनकी खिदमत के लिए चंद कर्मचारी ही बच गए। सभी अपने-अपने काम में लगे हुए थे। सीआरबी तैयार हुए कोट, पैंट पहना और लगभग 8.45 बजे चुपचाप बिना किसी से कुछ बोले सेलून से नीचे उतरे और पैदल ही मुख्य सड़क तक आए।



सड़क के ठीक बगल में टीटीई, परीक्षक रेस्ट रूम है। चंद कदम की दूरी तय करके वे अंदर पहुंचे। सामने बैठे कर्मचारी ने उन्हें नहीं पहचाना। वहीं पर कुछ टीटीई भी खड़े थे, एक पल के लिए सभी लोग अचंभित रह गए। सीआरबी उनके सामने खड़े थे। सभी लोगों ने उनका अभिवादन किया। जैसे ही पता चला तो रेस्ट रूम में रेस्ट कर रहे रांची, राउरकेला और नागपुर के टीटीई कमरे से निकलकर बाहर आ गए। सीआरबी ने पूछा तो समस्याओं का अंबार लगा दिया। रेस्ट रूम की खामियां गिनाई, टूटे-फूटे टाइल्स वाले बाथरूम, कमरे, रेस्ट रूम से लगी जंगल झाड़ियां, मच्छरों का प्रकोप बताया। उन्होंने रेस्ट रूम का निरीक्षण कराया। सीआरबी ने किचन देखा, कुक और अन्य कर्मचारियों से भी बातचीत की। वे लगभग आधे घंटे वहां पर रहे। टीटीई स्टाफ से आराम से बातचीत की।




दूसरी तरफ कुछ अफसर सीआरबी लोहानी को लेने गाड़ियां लेकर सेलून पहुंचे। वहां पर सीआरबी नहीं थे। जो कर्मचारी थे उन्हें भी नहीं मालूम था कि वे कहां गए। तत्काल इसकी सूचना जोनल महाप्रबंधक सुनील सिंह सोइन और डीआरएम आर राजगोपाल को दी गई। सभी अफसर परेशान हो गए। उनकी तलाश शुरू होती इससे पहले सीआरबी वापस सेलून पहुंच गए। जीएम और डीआरएम पहुंचे तब तक लोहानी सेलून पहुंच गए थे। मौके पर ही उन्होंने दोनों अफसरों को टीटीई रेस्ट रूम के संबंध में कुछ हिदायत दी।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.