नए साल पर रेलवे यात्रियों को तोहफा: चलती ट्रेन में डेबिट-क्रेडिट कार्ड से बनेंगे टिकट

| January 1, 2018

रेलवे नए साल में यात्रियों को तोहफा देने की तैयारी कर रहा है। अब चलती ट्रेन में यात्री कैश न होने की दशा में अपने क्रेडिट और डेबिट कार्ड का इस्तेमाल कर टिकट बुक करा सकेंगे। इसके लिए ट्रेवलिंग टिकट एक्जामनर (टीटीई) को टैब एवं पीओएस (प्वाइंट आफ सेल) मशीन उपलब्ध कराई जाएगी। इसका इस्तेमाल आरक्षित टिकट बनाने व बेटिकट यात्रियों से चार्ज वसूलने के लिए होगा। रेलवे 15 जनवरी से इस योजना को लागू करने की तैयारी कर रहा है।








ऐसे यात्री जिन्होंने आनन-फानन में ट्रेन पकड़ी हो अथवा जिनके पास टिकट न हो या किसी कारणवश अपना टिकट न ले पाए हों, रेलवे ऐसे यात्रियों का सफर आसान करने जा रहा है। इसके तहत आने वाले दिनों में रेलवे के टीटीई के हाथ में एक टैब और एक पीओएस मशीन होगी, जिसमें सफर के दौरान यात्री क्रेडिट व डेबिट कार्ड का प्रयोग कर खाली पड़ी सीटों पर आरक्षण प्राप्त कर सकेंगे।




वहीं, कोच में टीटीई की ओर से वसूल किये जाने वाला चार्ज या जुर्माने का भुगतान भी कार्ड से होगा। रेलवे ने उम्मीद जताई है कि जहां इससे यात्रियों की परेशानी कम होगी, वहीं कैश में गड़बड़ी की संभावना भी कम हो जाएगी। हाल ही में, रेलवे बोर्ड की एक बैठक में इस प्रस्ताव पर मुहर लग चुकी है और 15 जनवरी तक रेलवे बोर्ड द्वारा इस फैसले को लागू करने की रूपरेखा तैयार की गई है।




उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी नितिन चौधरी रेलवे की यह योजना पूरी तरह तैयार है। चलती ट्रेन में पीओएस और टैब की कनेक्टिविटी पर तैयारी चल रही है। साथ ही इसके फेलियर होने के समय विकल्प ढूंढे जा रहे हैं, ताकि असुविधा न हो। 15 जनवरी के आसपास सुविधा शुरू करने की योजना है।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.