Railway to remove LED Screen from Tejas Express

| December 31, 2017

Tejas

तेजस एक्सप्रेस ट्रेनों से हटाए जाएंगे एलसीडी स्क्रीन, वजह जानकर खुद से नजर नहीं मिला पाएंगे आप

देश की पहली सेमी हाइ स्पीड ट्रेन तेजस एक्सप्रेस में अब एलसीडी स्क्रीन नहीं लगाई जाएंगी। ट्रेन कोच में लोगों के एंटरटेनमेंट के लिए इंडियन रेलवे ने एलसीडी स्क्रीन लगाई थी, जिससे लोगों का सफर ज्यादा आरामदायक हो।

तेजस एक्सप्रेस में अब एलसीडी स्क्रीन नहीं लगाई जाएंगी। ट्रेन कोच में लोगों के एंटरटेनमेंट के लिए इंडियन रेलवे ने एलसीडी स्क्रीन लगाई थी, जिससे लोगों का सफर ज्यादा आरामदायक हो। मगर इंडियन रेलवे अपने इस फैसले को बदलने की सोच रहा है। रेल मंत्रालय के एक अधिकारी ने फाइनेंशियल एक्सप्रेस को बताया कि रेलवे इस बात पर विचार कर रहा है, कि ट्रेन में एलसीडी स्क्रीन की कोई खास जरूरत नहीं, लोग वैसे भी सफर के दौरान अपना फोन और लैपटॉप लेकर चलते हैं, ऐसे में अगर उन्हें वाई-फाई की सुविधा दे दी जाए तो यात्री अपने मनोरंजन का साधन खुद ढूंढ लेंगे।







रेलवे के इस फैसले के पीछे कई और कारण भी है। 24 मई को पहली बार मुंबई से गोवा के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस में यात्रियों का सफर ज्यादा सुविधाजनक और आरामदायक बनाने के लिए इंडियन रेलवे ने हर सीट पर एलसीडी स्क्रीन लगाई थी, जिसमें पहले से कई सारी प्री लोडेड एंटरटेनमेंट की समाग्री थी। मगर जब ट्रेन अपने गंतव्य तक पहुंची तो देखा गया कि, यात्रियों ने एलसीडी स्क्रीन के साथ काफी तोड़ फोड़ की थी और ट्रोन कोच में भी काफी छती पहुंची थी। इन सभी घटनाओं ने इंडियन रेलवे को सोचने पर मजबूर कर दिया था।







इस एक्सपीरियंस के चलते ये भी हो सकता है, कि भारतीय रेलवे जल्दी ही शुरु करने वाली डबल डेकर ट्रन उदय में भी एलसीडी स्क्रीन की सुविधा ना दे औऱ सिर्फ वाई फाई ही दे। रेल मंत्रायल के अधिकारी ने बताया कि , रेल मंत्रायल अभी इस बात पर विचार कर रहा है, कि उदय में एलसीडी स्क्रीन ना दिए जाए। फिलहाल पटरियों पर दौड़ रही तेजस एक्सप्रेस भारत की सबसे अपडेटेड ट्रेनों में से एक है। ट्रेन में ऑटोमेटिक डोर, जीपीएस, फायर स्मोक डिटेकशन सिस्टम, सीसीटीवी इत्यादी जैसी चीजे हैं। साथ ही आपको बता दें कि, अगली तेजस एकस्प्रेस में एलसीडी स्क्रीन नहीं लगाई जाएंगी, बाकी मौजूदा तेजस एक्सप्रेस में ये सुविधआ मौजूद रहेगी।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.