Heavy Fog costs Indian Railways too much

| December 31, 2017

7000 ट्रिप होंगी रद‌्द, रेलवे को 175 करोड़ का नुकसान, कोहरे से एक माह प्रभावित रहेंगी 102 ट्रेनें

एक्सप्रेस ट्रेन से एक ट्रिप से 3 लाख तो राजधानी एक्स. के 5 लाख  रूपए का राजस्व मिलता है

जयपुर.पिछले 10 वर्षों से रेल यात्रियों को बेहतर सुविधा देने का वादा भले ही किया जाता रहा हो, लेकिन परिस्थितियों में वास्तविकता के धरातल पर अधिक सुधार नहीं हुआ है। कोहरे में ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने और उन्हें लेटलतीफी से बचाने के लिए रेलवे के पास कोई कारगर उपाय नहीं है। हालांकि इसके लिए कुछ डिवाइस बनी जरूर हैं। लेकिन अभी इनका प्रयोग ही चल रहा है। सर्दी के सीजन में कोहरे के पूर्वानुमान के कारण देशभर में रेलवे की 102 ट्रेनों की 7000 ट्रिप रद्द रहेंगी। वहीं पिछले वर्ष ट्रेनों के 6500 ट्रिप रद्द किए गए थे। गौरतलब है कि एक एक्सप्रेस ट्रेन की 1 ट्रिप रद्द होने पर रेलवे को लगभग 2.50 से 3 लाख का और वहीं राजधानी ट्रेन की 1 ट्रिप रद्द होने से लगभग 5 लाख का नुकसान होता है। इस बार सर्दी के मौसम में 1 माह में ही रेलवे को लगभग 175 करोड़ रुपए का नुकसान होगा। रेलवे बोर्ड द्वारा रद्द की जाने वाली ट्रेनों की लिस्ट तैयार की जा चुकी है।








25 दिसंबर से 25 जनवरी तक रहेगा कोहरा

कोहरे के दौरान विजिबिलिटी (दृश्यता) कम होने से ट्रेनों की गति कम हो जाती है। ट्रेन ड्राइवरों को सिग्नल नहीं दिखाई देते हैं। साथ ही अधिक ठंड से ट्रैक टूटने की भी संभावना होती है। जिसके चलते रेलवे द्वारा हर साल कई ट्रेनों को रद्द करने का नियम-सा बन गया है। इस बार भी रेलवे का पूर्वानुमान है कि 25 दिसंबर से 25 जनवरी तक घना कोहरा रहेगा। रेलवे बोर्ड के अनुमान के मुताबिक इस दौरान 7000 ट्रिप रद्द करने पड़ेंगे।




ट्रेन प्रोटेक्शन वार्निंग सिस्टम का परीक्षण चल रहा है
रेलवेबोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी के अनुसार कोहरे से निपटने के लिए ट्रेन प्रोटेक्शन वार्निंग सिस्टम, एंटी कोलिजन डिवाइस के साथ नई एलईडी फॉग लाइट्स लगाने की तैयारियां चल रही हैं। लेकिन ये अभी प्रायोगिक दौर में ही हैं।

ट्रेनें रद्द होती हैं। इसकी बड़ी वजह धुंध है। तकनीकी कारणों से भी ट्रेनें रद्द की जाती हैं। लेकिन अभी दिल्ली, आगरा की तरफ की ट्रेनें धुंध की वजह से रद्द हो रही हैं। हम कोशिश कर रहे हैं कि ट्रेन प्रोटेक्शन वार्निंग सिस्टम, एंटी कोलिजन डिवाइस, एंटी फॉग डिवाइस को जल्दी ही विकसित हो सकें। इसके बाद काफी फायदा मिलेगा। वहीं अभी इंफ्रास्ट्रक्चर की भी कमी है। उसे भी दूर किया जा रहा है। वेस्टर्न और नार्थ फ्रेट कॉरिडोर (डीएफसीसीआईएल) विकसित होने के बाद इस समस्या से काफी हद तक निजात मिल जाएगा। -अनिल सक्सैना, एडीजी, पीआर, रेल मंत्रालय




78 ट्रेनें बिहार, दिल्ली और आगरा, मथुरा कीं
कोहरे के कारण रद्द परिवर्तित रूट से चलाई जाने वाली ट्रेनों में अधिकतर ट्रेनें बिहार, यूपी, दिल्ली और आगरा, मथुरा से होकर निकलने वाली हैं। आगरा से निकलने वाली 12 ट्रेनें रद्द की गई हैं। साथ ही 6 ट्रेनों के फेरे कम किए गए हैं। ये सभी ट्रेन मथुरा, आगरा होकर निकलती हैं।

जयपुर-चंडीगढ़पूर्ण रद‌्द तो जयपुर-इलाहाबाद आंशिक
कोहरे से जयपुर-चंडीगढ़-जयपुर इंटरसिटी ट्रेन जहां 75 दिन रद्द रहेगी। वहीं जयपुर-इलाहाबाद-जयपुर सुपरफास्ट भी जयपुर-मथुरा-जयपुर के बीच 75 दिन तक आंशिक रद्द रहेगी। जयपुर-चंडीगढ़-जयपुर इंटरसिटी जयपुर-इलाहाबाद-जयपुर सुपरफास्ट 1 दिसंबर से 14 फरवरी तक रद्द रहेगी।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.