रेलवे फैडरेशनों की मान्यता को लेकर जून में हो सकते हैं चुनाव

| December 27, 2017

भारतीयरेल में यूनियनों की मान्यता के लिए चुनाव जून में होने की संभावना है। ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन रेलवे ने लेटर जारी कर ब्रांच स्तर पर चुनाव की तैयारियां करने को कहा है। उन्होंने यूनियन प्रधानों से इसके प्रचार संपर्क करने के आदेश दिए हैं।








भारत के उच्च न्यायालय के निर्देशानुसार पहली बार चुनाव मई 2007 में कराया गया था। जिसमें एआईआरएफ (ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन) की नार्दन रेलवे मेंस यूनियन नियम अनुसार 35 फीसदी वोट लेकर सत्ता में आई थी। जबकि एनएफआईआर (नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन रेलवे) की उत्तरी रेलवे मजदूर यूनियन बड़े मार्जन से निश्चित फीसद वोट पूरा ना होने के कारण सत्ता से बाहर हो गई थी। परंतु 2013 में दोनों यूनियनों को 35 वीं सदी वोट हासिल होने के कारण मान्यता प्राप्त हुई।




भारतीय रेलवे में एआईआरएफ को 17 जोनों में से 14 जोनों में विजय मिली थी। जबकि एनएफआईआर को 17 में से सिर्फ 10 जोन में ही जीत हासिल हुई थी। अब दोनों यूनियन अपनी मान्यता को लेकर चुनाव मैदान में उतरेंगी। दोनों यूनियनों के महासचिवों ने ब्रांच लेवल पर पत्र जारी कर जून 2018 में चुनाव की तैयारियां करने के निर्देश दिए हैं। अगर जून में चुनाव होते हैं तो अप्रैल में दोनों फेडरेशनों की मान्यता खत्म हो जाएगी। क्योंकि दो महीने पहले ही आचार संहिता लग जाएगी।



जानकार बताते हैं कि चुनाव से 2 महीने पहले ही आचार संहिता लागू हो जाती है। ऐसे में दोनों यूनियनें मान्यता प्राप्ति के लिए पूरा जोर लगाएंगी। फेडरेशन रेलवे कर्मचारियों रेलवे प्रशासन के बीच सेतु का काम करती हैं। वह कर्मचारियों की जायज मांगों को रेलवे ने सरकार से मनवाने में अहम रोल निभाती हैं। देश में लगभग 12 लाख रेलवे कर्मचारी है। जिसमें से फिरोजपुर मंडल में 18 हजार कर्मचारी है।

june election

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.