रेलवे के 80 हजार सीनियर सेक्शन इंजीनियर्स को 30 साल में नहीं मिलता एक भी प्रमोशन

| December 22, 2017

रेलवेके करीब 80 हजार सीनियर सेक्शन इंजीनियर (एसएसई) को अपने पूरे 30 साल के कार्यकाल एक भी प्रमोशन नहीं दिया जा रहा है। जूनियर इंजीनियर को केवल एक प्रमोशन मिल रहा है। रेलवे के इस नीतिगत फैसले से प्रभावित होने वालों में उपरे के जयपुर, जोधपुर, अजमेर बीकानेर मंडल के 1500 से भी अधिक एसएसई जूनियर इंजीनियर (जेई) शामिल हैं। एसएसई की यह स्थिति आजादी के बाद से ही बनी हुई है। उपरे के रेलवे इंजीनियर्स ने नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे इंजीनियर्स एसोसिएशन के बैनर तले शुक्रवार शनिवार को उपरे के जवाहर सर्किल स्थित मुख्यालय में डीआरएम कार्यालय के सामने धरना दिया। एसोसिएशन के जनरल सेक्रेट्री आरए सैनी ज्वाइंट सेक्रेट्री पवन मीना ने कहा कि रेल संरक्षा से सीधे जुड़े इंजीनियर्स को गैर तकनीकी कर्मचारियों से कम वेतनमान देकर अपमानित किया जा रहा है। जबकि इन्हीं इंजीनियर्स को किसी भी रेल दुर्घटना के लिए सीधे जिम्मेदार ठहराया जाता है।








ग्रुपबी का दर्जा मिलने से वेतन नहीं, केवल सुविधा ही बढ़ेगी : एसोसिएशनके मंडल सचिव डीके पारे का कहना है कि ग्रुप बी का दर्जा मिलने से इंजीनियर्स को वेतन में कोई लाभ नहीं मिलेगा लेकिन उनकी सुविधाएं बढ़ जाएगी। एसोसिएशन के अनुसार अन्य विभागों में जेई को एईएन में प्रमोशन मिलता है। लेकिन रेलवे में जेई को एसएसई में प्रोमोशन मिलता है और वे एसएसई में ही रिटायर हो जाता है। इसका कारण रेल विभाग में कार्यरत इन इंजीनियर्स के लिए कोई निश्चित समय अवधि के बाद भी प्रमोशन का कोई प्रावधान नहीं है।








रेलवे में 80 हजार इंजीनियर्स

भारतीयरेल में 80 हजार इंजीनियर कार्यरत हैं। इंजीनियर ट्रेन संचालन के साथ यात्रियों की सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करने की भूमिका निभा रहे हैं।

ग्रुपसी में भर्ती और इसी पद से रिटायर होते हैं

रेलवेमें श्रमिक भी ग्रुप-डी से ग्रुप-सी में गया है, लेकिन इंजीनियर्स (जेई एसएसई) अभी भी ग्रुप-सी में भर्ती होते हैं और उसी में ही रिटायर हो रहे हैं, जबकि अन्य विभागों में जेई ग्रुप-बी में भर्ती होते हैं और रिटायर होने तक सुपरिटेंडेंट इंजीनियर तक पदोन्नति पाते हैं। जेई वेतनमान 4200 में भर्ती होकर सिर्फ एक पदोन्नति वेतनमान 4600 (नान) पाता है, जबकि एसएसई वेतनमान 4600 में भर्ती होकर पूरी सर्विस में बिना पदोन्नति के रिटायर होता है।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.