रेलवे बोर्ड से 200 अफसरों की विदाई की तैयारी

| November 18, 2017

Indian Railway Train

नई दिल्ली :- आए दिन होने वाली दुर्घटना से आलोचना झेल रहे रेल विभाग ने अपनी कार्यशैली में बदलाव का मन बना लिया है। रेलवे बोर्ड ने अब बंद एसी कमरों में दिल्ली में बैठकर ट्रेन चलाने की जगह अधिकारियों को विभिन्न जोन में तैनात करने का फैसला किया है। पिछले दिनों रेलवे बोर्ड में निदेशक स्तर के 200 लोगों को विभिन्न जोन में भेजने की प्रक्रिया पूरी की गई, वहीं बोर्ड के बोझ को हलका कर 40 फीसदी और लोगों को फील्ड में तैनात किया जाएगा।








रेल मंत्री पीयूष गोयल के निर्देशों के बाद अब रेलवे बोर्ड से 200 अफसरों की विदाई की तैयारी शुरू हो गई है। इन सभी अफसरों को जोनल स्तर पर तैनात किया जाएगा। इस संबंध में रेलवे बोर्ड की ओर से औपचारिक आदेश जारी कर सभी सदस्यों और महानिदेशकों से कहा गया है कि वे अपने-अपने विभागों से ऐसे अफसरों की लिस्ट फाइनल करें, जिन्हें रेलवे बोर्ड से हटाकर जोनल स्तर पर भेजा जाएगा।




रेलवे बोर्ड के सूत्रों के मुताबिक, इस संबंध में बोर्ड के सेक्रेटरी की ओर से जारी आदेश में अफसरों से कहा गया है कि वे अपने-अपने विभाग से कम से कम 40 फीसदी ऐसे पदों की पहचान करें, जिनपर तैनात अफसरों को जोन में वापस भेजा जाए। यह कोशिश की जा रही है कि जिन अफसरों का रेलवे बोर्ड की बजाय सीधे जोन या फिर डिविजन स्तर पर ही काम है, उन्हें यहां से शिफ्ट किया जाए। इनमें ट्रैफिक, पर्सनल और आरपीएफ से जुड़े अधिकारी भी हैं।




सूत्रों के मुताबिक, योजना यह है कि बोर्ड में सिर्फ उन अफसरों को ही तैनात किया जाए, जिनका सीधा वास्ता पॉलिसी तय करने से है। पहले ही रेलवे को जोनल और डिविजन स्तर पर कई अधिकार दे दिए गए हैं। यहां तक की टेंडर के लिए भी जोनल स्तर पर अधिकार दिए जा चुके हैं। इससे जहां डिविजन और जोन में अफसरों की कमी दूर होगी, वहीं रेलवे बोर्ड में भी जगह की कमी को दूर किया जा सकेगा। अभी रेलवे बोर्ड में अफसरों की भरमार का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वहां अफसरों के लिए कमरे तक उपलब्ध नहीं हैं।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.