शताब्दी ट्रेन कल से बदले अंदाज के साथ चलेगी

| November 6, 2017

रेलवे की ओर से शुरू की गई स्वर्ण योजना के तहत राजधानी व शताब्दी ट्रेनों की सूरत बदलनी शुरू हो गई है। नई दिल्ली से काठगोदाम के बीच चलने वाली शताब्दी ट्रेन स्वर्ण योजना के तहत बेहतर सुविधाओं के साथ चलने वाली पहली ट्रेन होगी। यात्री मंगलवार से बेहतर सुविधाओं के साथ काठगोदाम शताब्दी में यात्र करेंगे।








विमान की तर्ज पर शौचालय के दरवाजे : ट्रेन के अंदर शौचालय के अंदर भी विनायल रै¨पग की गई है। सफेद रंग पर बैगनी रंग से बनी आकृतियों वाली ये रै¨पग ऐसा अनुभव देती है, जैसे टाइल्स लगी हों। शौचालय के दरवाजे में विमान की तर्ज पर लॉक लगाए गए हैं। एक बार यात्री अंदर दाखिल हो जाए तो दरवाजा अपने आप बंद हो जाता है।




सीट नंबर ब्रेल लिपि में लिखे गए : ट्रेन में सीट के ऊपर लगे लगेज रैक पर ब्रेल लिपी में सीट नंबर लिखे गए हैं। वहीं, शौचालय व अन्य जगहों पर ब्रेल में सूचनाएं लिखी हुईं हैं। ऐसे में नेत्रहीन लोगों को काफी सुविधा होगी।

मैजिक बॉक्स से मनोरंजन : ट्रेन में मैजिक बॉक्स नाम से एक सेवा दी गई है। इसके तहत यात्री ट्रेन में इंटरनेट के माध्मय से फ्री में एचडी कंटेंट डाउनलोड कर सकेंगे। इस सेवा को फिलहाल ट्रायल पर लगाया गया है।




स्वर्ण योजना के तहत काठगोदाम शताब्दी की सूरत को बदला गया है। 

काठगोदाम शताब्दी ट्रेन में जहां यात्री बैठते हैं, वहां जमीन पर मैराथन सील लगाई गई है। इससे फर्श हर वक्त चमकती रहेगी। यदि फर्श पर चाय या कोई खाने -पीने की चीज गिर भी जाती है तो उसका दाग नहीं पड़ेगा। ट्रेन के बाहर भी ग्रा¨फ्टग की गई है। इसके चलते बाहर के हिस्से पर भी कोई दाग नहीं लगेगा।

काठगोदाम शताब्दी में दाखिल होती ही गेट के अंदर पीले रंग की खूबसूरत विनायल रै¨पग (आकर्षक प्लास्टिक शीट) की गई है। हल्के व चमकीले रंग की रै¨पग पर बने फूल आकर्षक लुक दे रहे हैं। डिब्बे के अंदर भी सामान रखने वाले रैक के ऊपर रै¨पग की गई है। डिब्बा के शुरू से अंत तक दोनों तरफ खूबसूरत फ्रेम में तस्वीरें लगाई गई हैं।

shtabdi train st

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.