रेलवे बोर्ड ने जारी किया स्टाफ के लिए चार्टर

| November 5, 2017

रेलवे बोर्ड ने एक आदेश जारी कर देशभर में विभाग के कामकाज के लिए समय निर्धारित कर दिया है। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन…

रेलवे बोर्ड ने एक आदेश जारी कर देशभर में विभाग के कामकाज के लिए समय निर्धारित कर दिया है। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी ने स्टाफ चार्टर में हर काम के लिए दिन तय कर दिया है। इसके तहत कर्मचारियों से संबंधित सभी तरह के काम अधिकतम 90 दिन में पूरा करना होगा। कुछ काम के लिए एक ही दिन का निर्धारण किया गया है। रेलवे बोर्ड ने देशभर के समस्त रेलवे महाप्रबंधकों को पत्र जारी कर स्टाफ चार्टर जारी किया है। चार्टर पर अमल जारी होने के दिन से ही करने के आदेश दिए गए है। इस पर जरा भी लापरवाही या कोताही पर कार्रवाई करने की चेतावनी दी गई है।







कर्मचारियों को सभी तरह के काम 90 दिन में पूरे करने होंगे

रेलवे के स्टाफ की किसी भी तरह की समस्या, वेब पोर्टल पर आई शिकायतों का निवारण- 30 वर्किंग दिवस पर।

डीआरएम के पर्सनल इंटरव्यू- नियत तिथि पर डीआरएम लेंगे। उनकी उपस्थिति में एडीआरएम इंटरव्यू लेंगे।

अनुकंपा नियुक्ति की डिवीजन स्तर पर मंजूरी- 90 दिन, एप्रुवल 60 दिन डिवीजन और 30 दिन जोनल मुख्यालय।




भुगतान एवं सेटलमेंट- सेवानिवृत्ति दिवस पर ही। वीआरएस, निधन या इस्तीफा देने की स्थिति में बिना विवाद के 60 दिन में।

योग्यता और सलेक्शन के अनुरूप प्रमोशन- एक साल के भीतर।

ट्रांसफर या मेच्युल ट्रांसफर- आवेदन के बाद 15 दिन में

आरआरबी और आरआरसी में सलेक्शन एवं वेरिफिकेशन- 30 वर्किंग दिवस पर।

लोन एवं एडवांस लोन की प्रक्रिया- आवेदन के 7 दिन में पूरा करें और अगले ही वेतन में भुगतान करें।

पीएफ निकालने को आवेदन का निराकरण- 7 दिन में मंजूरी और उसके 7 दिन में भुगतान।

पीएफ का सेटलमेंट- सेवानिवृत्त दिवस पर।




सर्विस रिकार्ड का निरीक्षण- कर्मचारी साल में एक बार कर सकेंगे।

उच्च शिक्षा, प्रापर्टी खरीदी-बिक्री, पासपोर्ट और प्रतिनियुक्ति के लिए एनओसी – आवेदन के 14 दिन के अंदर विजिलेंस मामले में क्लीयरेंस के बाद एवं 30 दिन अन्य मामले में।

डिस्पोजल डी एवं एआर प्रकरण- मेजर 150 दिन, माइनर 31 दिन।

पास और पीटीओ – एक दिन में जारी करें।

जिस विभाग में 5 से अधिक महिलाएं हैं वहां पर चेंजिंग रूम और अलग से बाथरूम मार्च 2018 तक पूरा करा लें।

सभी कार्यालय भवनों में हर साल रंग रोगन और साफ-सफाई कराएं।

चिंहित कार्यालयों में वाटर फिल्टर 60 दिन में लगवाएं।

कार्यालयों में पंखे और कूलर 60 दिन में लगवाए जाएं।

जिनके लिए कंप्यूटर की आवश्यकता है वहां पर पीसी और इंटरनेट कनेक्शन 6 महीने में लगवाए जाएं।

केजुअल लीव एक दिन में, एलएपी, मेटरनिटी, पैटरनिटी लीव 7 वर्किंग दिवस पर एवं एक्स इंडिया 30 वर्किंग डे में पूरा करें।

कर्मचारियों की वरिष्ठता सूची हर साल जारी की जाए।

Source:- Bhaskar

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.