रेल कर्मियों को समय पर मिलेगा प्रमोशन और छुट्टी, वर्क कल्चर सुधारने का बना प्लान

| October 28, 2017

RAILWAY LOCOS

रेल कर्मियों को समय पर मिलेगा प्रमोशन और छुट्टी, वर्क कल्चर सुधारने का बना प्लान, रेलवे में काम कर रहे 13 लाख कर्मचारियों को खुश करने का प्रयास किया जा रहा है

नई दिल्‍ली। नए रेल मंत्री पीयूष गोयल और रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी ने जब से पदभार संभाला, तब से वे रेलवे के वर्क कल्‍चर में सुधार की कोशिश कर रहे हैं। इसके लिए रेलवे में काम कर रहे 13 लाख कर्मचारियों को खुश करने का प्रयास किया जा रहा है। इसी कड़ी में बुधवार को रेलवे ने एक बड़ा फैसला लिया है। रेलवे बोर्ड ने इम्‍पलॉई चार्टर ऑफ कमिटमेंट तैयार किया है, जिसके तहत कर्मचारियों को दी जाने वाली सर्विसेज की टाइम लाइन तैयार की गई है। साथ ही, सभी जोन के जीएम से कहा गया है कि वे इस टाइम लाइन के हिसाब से कर्मचारियों के काम निपटा दें।








क्‍या है मकसद

रिपोर्ट्स बताती हैं कि एक्‍सीडेंट्स से लेकर ट्रेन लेट होने का बड़ा कारण कर्मचारियों की लापरवाही है। जबकि कर्मचारी आरोप लगाते हैं कि उन्‍हें मिलने वाली सर्विसेज तय समय पर नहीं मिलती। यही वजह है कि पदभार संभालने के तुरंत बाद रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्‍विनी लोहानी ने सभी कर्मचारियों के नाम एक खुला पत्र लिखा और उन्‍हें भरोसा दिलाया कि वह कर्मचारियों को पूरा ख्‍याल रखेंगे। स्‍वयं रेल मंत्री भी समय समय पर रेल कर्मचारियों को पूरी सुविधाएं देने का वादा करते रहे हैं।

एक दिन में सेंक्‍शन होगी लीव

कर्मचारियों की शिकायत रहती है कि उन्‍हें छुट्टी नहीं मिलती। अधिकारी कई-कई दिन तक लीव एप्‍लीकेशन अपने पास दबाए रखते हैं। रेलवे बोर्ड से जारी चार्टर ऑफ कमिटमेंट में कहा गया है कि कर्मचारियों की कैजुअल लीव एप्‍लीकेशन का डिस्‍पोजल एक दिन में हो जाएगा, जबकि एलएपी, मैटरनिटी या पेटरनिटी लीव एप्‍लीकेशन सात दिन में डिस्‍पोज होगी।




समय पर मिलेगा प्रमोशन

कर्मचारी अकसर यह शिकायत करते हैं कि उन्‍हें प्रमोशन समय पर नहीं मिलती, इसलिए तय किया गया है‍ कि प्रीवियस पैनल के एक साल के भीतर प्रमोशन हो जाएगा।

रिटायरमेंट के साथ मिलेगी पेंशन

कर्मचारियों की एक और बड़ी मांग को इस चार्टर में शामिल किया गया है। कहा गया है कि रिटायरमेंट वाले दिन ही ड्यूज का पेमेंट हो जाएगा। हालांकि वीआरएस, डेथ और रिजाइन की स्थिति में इसमें 60 दिन का समय लग सकता है।

30 दिन में होगा शिकायत का निवारण

कर्मचारियों की शिकायत का निवारण 30 दिन के भीतर किया जाएगा। यदि डीआरएम से पर्सनल इंटरव्यू करना है तो उसी दिन करना होगा। यदि डीआरएम नहीं है तो एडीआरएम इंटरव्यू करेंगे। यदि किसी कर्मचारियों को म्‍युचल ट्रांसफर चाहिए तो एप्‍लीकेशन देने के 15 दिन के भीतर हां या ना में जवाब दिया जाएगा।

7 दिन में मिलेगा पीएफ

यदि कोई कर्मचारी पीएफ विदड्रॉ करना चाहते हैं तो उसकी एप्‍लीकेशन 7 दिन के भीतर अप्रूवल किया जाएगा और अप्रूवल के सात दिन के भीतर पीएफ डिस्‍बर्स हो जाएगा। इतना ही नहीं, किसी कर्मचारी को पीएफ स्‍टेटमेंट चाहिए तो उसी दिन उसे पीएफ स्‍टेटमेंट उपलब्‍ध कराई जाएगी।




7 दिन में मिलेगा लोन

– यदि कोई कर्मचारी एडवांस या लोन लेना चाहता है तो 7 दिन के भीतर अप्रूवल मिल जाएगी और अगली सैलरी में एडवांस मिल जाएगा।

– इसी तरह कर्मचारी को एक दिन के भीतर पास या पीटीओ जारी हो जाएगा।

– रेलवे की ओर से हर साल सीनियरटी लिस्‍ट जारी की जाएगी।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.