लंबी दूरी की 500 ट्रेनें अगले महीने से चलेंगी ‘तेज’, 2 घंटे तक कम होगा ट्रैवल टाइम

| October 20, 2017

railway trains

भारतीय रेलवे जल्द ही लंबी दूरी की करीब 500 ट्रेनों के यात्रा के समय में दो घंटे तक की कटौती करने जा रही है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रेलवे के नवंबर के टाइमटेबल में नया समय अपडेट कर दिया जाएगा। इस महीने रेलवे मंत्री पीयूष गोयल से मिले निर्देशों के मुताबिक ऐसा किया जा रहा है। ‘इनेवेटिव टाइमटेलिंग’ प्रयास के तहत ट्रेनों के यात्रा के समय को 15 मिनट से लेकर 2 घंटे तक घटाया जा रहा है।








नया टाइमटेबल हर रेलवे डिविजन को मेनटेनेंस के लिए भी 2 से 4 घंटे तक का समय मुहैया कराएगा। अधिकारी के मुताबिक लंबी दूरी की ऐसी ट्रेनें जो अपने गंतव्य तक पहुंचने के बाद लौटने का इंतजार करती हैं, उनका उस अवधि में भी इस्तेमाल किया जाएगा। अधिकारी के मुताबिक नए टाइमटेबल में करीब 50 ट्रेनों को ऐसे ही चलाया जाएगा। उन्होंने दावा किया कि 51 ट्रेनों के यात्रा के समय में तुरंत एक से 3 घंटे तक की कमी आएगी।

अधिकारी के मुताबिक आगे चलकर ऐसा करीब 500 ट्रेनों के साथ होगा। रेलवे ने इंटरनल ऑडिट भी शुरू किया है। इसके जरिए 50 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों को सुपर-फास्ट सर्विस में अपग्रेड किया जाएगा। अधिकारी के मुताबिक देश में ट्रेनों की औसत गति को बढ़ाने के लिए की जा रही कवायदों का यह भी एक हिस्सा है।




भोपाल-जोधपुर एक्सप्रेस जैसी ट्रेन अपने समय से 95 मिनट पहले पहुंचेगी। इसी तरह 2330 किमी दूरी तय करने वाली गुवाहाटी-इंदौर स्पेशल नए टाइमटेबल में 115 मिनट कम समय लगाएगी। गाजीपुर-बांद्रा टर्मिनस एक्सप्रेस 1929 किमी की अपनी यात्रा को 95 मिनट पहले पुरा कर लेगी। रेलवे स्टेशनों पर ट्रेनों के हाल्ट टाइम में भी कमी करेगी। इसके अलावा ऐसे स्टेशनों पर ट्रेनों का ठहराव बंद होगा जहां यात्रियों की संख्या कम है।




इसके अलावा रेलवे ट्रैक और इन्फ्रास्ट्रक्टचर को अपग्रेड करने अलावा ऑटोमैटिक सिग्नलिंग पर भी काम होगा। इसका भी ट्रेनों के समय पर असर पड़ेगा। अधिक सुरक्षित लिंक-हॉफमैन-बुश कोचों के लगाने से भी ट्रेनों की गति तेज होगी। यह खास कोच ट्रेनों को 130 किमी प्रति घंटे तक की स्पीड के लिए बेहतर है। रेलवे पर्मानेंट स्पीड रिस्ट्रिक्शन का रीव्यू भी कर रही है।

Source:- NBT

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.