कोयला कर्मियों का 24% बढ़ा वेतन दिवाली के पहले 40 हजार एडवांस भी

| October 12, 2017

कोल इंडिया में 10वें वेतन समझौते को लेकर दिल्ली में मंगलवार को आयोजित जेबीसीसीआई की बैठक में मुहर लग गई है। जिसे 1 जुलाई 2016 से लागू माना जाएगा। साथ ही 30 जून 2016 से बढ़ा हुआ वेतन दिया जाएगा। कर्मियों को इसी माह के वेतन में 24 फीसदी जोड़कर बढ़ा हुआ वेतन मिलेगा। साथ ही दीवाली के पहले 40-40 हजार एडवांस के रूप में भुगतान किया जाएगा। जिसे बाद में एरियर्स में समायोजन कर दिया जाएगा। एरियर्स को दो किश्तों में देने का निर्णय हुआ है।







एसईसीएल समेत सीआईएल की अन्य अनुषंगी कंपनी मेें कार्यरत श्रमिकों के 10वें वेतनमान में 20 फीसदी न्यूनतम लाभ व 4 फीसदी विशेष भत्ता देने पर पहले ही सहमति बन चुकी थी। लेकिन हस्ताक्षर नहीं हुआ था। मंगलवार को दिल्ली में आयोजित जेबीसीसीआई की बैठक में एचएमएस को छोड़ बीएमएस, सीटू व एटक ने हस्ताक्षर कर दिया।




एसईसीएल के 18 हजार कर्मियों को मिलेगा लाभ

न्यूनतम सवा लाख, अधिक ढाई लाख तक एरियर्स

कोल इंडिया में 3 लाख 20 हजार से अधिक कर्मी हैं। एसईसीएल में 57 हजार कर्मी हैं। इसमें जिले में 18 हजार कर्मी एसईसीएल के दीपका, कोरबा, गेवरा, कुसमुंडा क्षेत्र में हैं। एटक नेता दीपेश मिश्रा ने कहा कि दसवां वेतनमान समझौता ऐतिहासिक निर्णय है। मजदूरों की एकता के बल पर यह संभव हुआ है।

कोयला कर्मचारियों को न्यूनतम सवा लाख तो अधिकतम ढाई लाख रुपए एरियर्स के रूप में मिलेगा। एसईसीएल में कर्मचारियों की कई केटेगरी है जिसके कारण अलग-अलग दर से एरियर्स का भुगतान किया जाएगा। इसके बाद भी 1 लाख से कम किसी का एरियर्स नहीं होगा।




10-10-10 का अजब संयोग: एटक यूनियन दीपका एरिया के अध्यक्ष चंद्रकांत सिन्हा ने कहा दसवां वेतन समझौता सही समय पर हुआ है। यह दसवीं बैठक थी। तारीख व महीना 10 ही है। इससे दसवें वेतन को लंबे समय तक याद रखा जाएगा।

बोनस से 97 करोड़ रुपए तो एरियर्स में आएगा 72 करोड़

एसईसीएल कर्मचारियों को बोनस के रूप में 97 करोड़ का भुगतान हुआ है। प्रबंधन ने प्रत्येक कर्मचारी को 57 हजार बोनस देने का निर्णय लिया था। अब दीपावली पूर्व दसवां वेतन का 40 हजार रुपए एरियर्स एडवांस देने का निर्णय हुआ है। जिससे कर्मचारियों को 72 करोड़ का भुगतान होगा।

यादव बोले- फिर से कोयला मजदूरों के बीच जाएंगे

एचएमएस के केन्द्रीय अध्यक्ष रेशमलाल यादव का कहना है कि आश्रित नियोजन की भाषा, रेस्ट वेजेजे का दोहरा वेतन के संबंध में अस्पष्टता, अंडर ग्राउंड एलाउंस को 9 प्रतिशत तक सीमित रखने, एलाउंस फ्रीज तथा पिछले वेतन समझौता के अनुरूप वृद्धि न होने समेत अन्य मुद्दों को लेकर हस्ताक्षर नहीं किए। हमने अपना वादा पूरा किया।

एचएमएस ने नहीं किया हस्ताक्षर, दो किश्तों में होगा एरियर्स का भुगतान

coal-employees-st

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.