Indian Railways can generate lakhs of jobs every year – Railway Minister

| October 7, 2017

रेल क्षेत्र में 10 लाख रोजगार पैदा करने की क्षमता, एक साल में सुरक्षा और रखरखाव में दो लाख रोजगार की संभावना, लेकिन यह नौकरियां प्रत्यक्ष रूप से रेलवे से जुड़ी नहीं होंगी

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को कहा कि देश में रेलवे के पारिस्थितकी तंत्र से जुड़े समूचे क्षेत्र में कामकाज से एक साल के भीतर ही 10 लाख रोजगार के अवसर पैदा हो सकते हैं। उन्होंने यह बात विश्व आर्थिक मंच के भारत आर्थिक सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। गोयल ने कहा कि रीयल एस्टेट संपत्तियों के मौद्रिकरण और मौजूदा निवेश योजनाओं को रफ्तार देने से रेलवे और इसके आसपास के पारिस्थितकी तंत्र में रोजगार के काफी अवसर पैदा होंगे। उन्होंने कहा, मेरा खुद का मानना है कि बेशक ये रेलवे में सीधी नौकरियां नहीं होंगी, लेकिन लोगों को जोड़कर और पारिस्थितकी तंत्र के विभिन्न क्षेत्रों में काम कर एक साल में दस लाख रोजगार के अवसर सृजित किए जा सकते हैं।








मंत्री ने कहा, सरकार रेलवे ट्रैक और सुरक्षा रखरखाव कार्यक्रम पर आक्रामक तरीके से आगे बढ़ रही है। इनसे अकेले दो लाख रोजगार के अवसर पैदा किए जा सकते हैं। उन्होंने कहा, यदि मैं पाइपलाइन के निवेश को देखूं और उसे क्रियाशील करूं, तो इससे मौजूदा परियोजनाओं में 2-2.5 लाख रोजगार पैदा किए जा सकते हैं। गोयल ने कहा, भारत में निवेश की अपार संभावनाएं हैं, बशर्ते कि लोगों की मानसिकता बदले। कोयला क्षेत्र में यह बदलाव आया है और अब रेलवे की बारी है।




केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने गुरुवार को कहा कि सरकार के सुधारों के रास्ते पर आगे पहल करने से खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में अगले दो-तीन साल में कम से कम 10 अरब डॉलर का निवेश आ सकता है। विश्व आर्थिक मंच द्वारा आयोजित भारत आर्थिक सम्मेलन से इतर बातचीत में यह जानकारी दी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश में खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) में 40 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। इसी वित्त वर्ष में अप्रैल-मई में 20 करोड़ डॉलर का एफडीआई आ चुका है।




केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने गुरुवार को कहा कि सरकार के सुधारों के रास्ते पर आगे पहल करने से खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में अगले दो-तीन साल में कम से कम 10 अरब डॉलर का निवेश आ सकता है। विश्व आर्थिक मंच द्वारा आयोजित भारत आर्थिक सम्मेलन से इतर बातचीत में यह जानकारी दी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश में खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) में 40 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। इसी वित्त वर्ष में अप्रैल-मई में 20 करोड़ डॉलर का एफडीआई आ चुका है।

railway-jobs-10-l-st

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.