Railway staff ordered to do 12 hours duty

| October 6, 2017

रेलकर्मियों के लिए 12 घंटे ड्यूटी करने का फरमान

रेलवे बोर्ड का कर्मचारियों की ड्यूटी को लेकर 8 घंटे का फरमान है लेकिन पूर्वोत्तर रेलवे के अधिकारियों ने लखनऊ जंक्शन पर तैनात कर्मचारियों को 12 घंटे ड्यूटी करने का फरमान जारी कर दिया है। इसको लेकर कर्मचारियों में रोष है। लखनऊ जंक्शन पर तैनात हमालों के ड्यूटी के घंटे 8 से बढ़ाकर 12 कर दिए गए हैं। डिप्टी एसएस ने इसकी जानकारी रेलकर्मचारियों को दे दी है। इसके अलावा बुकिंग व आपरेटिंग में तैनात कर्मचारियों की ड्यूटी के घंटे भी बढ़ा कर 12 कर दिए गए हैं। सिर्फ पार्सल घर में तैनात कर्मचारियों के ड्यूटी घंटे नहीं बढ़ाए गए हैं। इसको लेकर कर्मचारियों में रोष व्याप्त है।








पूवरेत्तर रेलवे मजदूर यूनियन के मंडल मंत्री अजय वर्मा कहा कि इस तरह की तानाशाही कर्मचारियों पर नहीं चलेगी। उन्होंने कहा कि एक ही श्रेणी में काम करने वाले कर्मचारियों के डयूटी घंटे अलग अलग नहीं हो सकते हैं। यूनियन का कहना है कि डीसीएम देवेंद्र यादव की ओर से यह फरमान जारी किया गया है जो कर्मचारियों को कुबूल नहीं है। इसको लेकर 9 अक्तूबर को मजदूर यूनियन कार्यालय पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। यह हठधर्मिता है इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।




’ डीसीएम की ओर से जारी आदेश का विरोध किया

जीएम के निरीक्षण से पहले लखनऊ जंक्शन के पास बरसों पुराना रिक्शा स्टैंण्ड डीआरएम के निर्देश के बाद हटा दिया गया। वहीं, स्टैंण्ड हटने से बुजुर्ग व विकलांग यात्रियों की दिक्कत बढ़ गई है। यहां से उनको स्टेशन के बाहर निकलते ही सवारी मिल जाती थी। डीआरएम आलोक सिंह इससे पहले कुलियों का प्रतिक्षालय हटाने के निर्देश दे चुके हैं लेकिन मजदूर यूनियन के विरोध के चलते वह नहीं हट पाया।

’ बुकिंग और आपरेटिंग कर्मचारियों का काम बढ़ा

डीसीएम के फरमान से रेलकर्मी परेशान

पूर्वोत्तर रेलवे के डीसीएम के फरमान से लखनऊ जंक्शन पर तैनात चतुर्थ श्रेणी हम्माल खासे परेशान हैं। रेलवे बोर्ड के नियमों को धता बताते हुए डीसीएम ने मौखिक आदेश देकर उनकी ड्यूटी आठ घंटे से बढ़ाकर 12 घंटे कर दी है। दूसरी ओर इस मामले को लेकर एनई रेलवे मजदूर यूनियन ने शुक्रवार को धरना प्रदर्शन करने का ऐलान किया है।




एनईआर के डीसीएम देवानंद यादव ने बीते पखवारे सीआईटी के जरिए मौखिक आदेश जारी कर दिया। उनके मौखिक आदेश ने स्टेशन पर वर्षों से काम कर रहे हम्मालों की नींद उड़ा दी है। कर्मचारियों का आरोप है कि डीसीएम ने रेलवे बोर्ड के नियमों को भी ताक पर रख दिया है। उन्होंने डिप्टी एसएस, मैट्रन, बुकिंग व सीआईटी

आफिस में काम करने वाले हम्मालों की ड्यूटी 12 घंटे कर दी है। जबकि पार्सल में कार्यरत कर्मचारियों की ड्यूटी पूर्ववत आठ घंटे ही है। इस मामले में जब कर्मचारियों ने एनई रेलवे मजदूर यूनियन के मंडल मंत्री अजय कुमार वर्मा से शिकायत को तो उन्होंने इसे हिटलरी फरमान बताते हुए विरोध व्यक्त किया है। उन्होंने बताया कि एक ही स्टेशन पर एक ही ग्रेड पे के कर्मचारियों की अलग-अगल ड्यूटी लिए जाने का कोई नियम नहीं है। इसके विरोध में नौ अक्टूबर को मजदूर यूनियन धरना-प्रदर्शन करेगी।
12-hour-duty-st

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.