Railway changes duties of RPF

| September 23, 2017

आरपीएफ अब बेगारी का काम छोड़कर केवल यात्रियों और रेलवे संपत्ति की सुरक्षा करेगी। अवैध वेंडर और बिना टिकट यात्रियों को भी नहीं पकड़ेगी। अब इस काम की जिम्मेदारी वाणिज्य समेत अन्य विभागों को उठानी पड़ेगी। 1वर्तमान में आरपीएफ अवैध वेंडरों की चेकिंग करती है। इसके अलावा टिकट चेकिंग टीम में भी शामिल होना पड़ता है। बिना टिकट यात्रियों पर कानूनी कार्रवाई करने के साथ ही उन्हें जेल भी भेजना पड़ता है, जबकि इस काम के लिए आरपीएफ के जवान अधिकृत नहीं हैं। आरपीएफ का मुख्य काम यात्रियों और रेलवे की संपत्ति की सुरक्षा करनी है, लेकिन बेगारी का काम करने से यात्रियों व रेल संपत्ति की सुरक्षा ठीक तरह से नहीं हो पा रही थी।








रेलवे बोर्ड के डायरेक्टर जनरल (आरपीएफ) धर्मेद्र कुमार ने देश भर के आरपीएफ अधिकारियों को पत्र भेजा है। इसमें कहा है कि आरपीएफ के जवान टिकट चेकिंग, अवैध वेंडर पकड़ने आदि का काम नहीं करेंगे। वे केवल टिकट की कालाबाजारी करने वालों को पकड़ेंगे। टिकट चेकिंग और अवैध वेंडर को पकड़ने का काम वाणिज्य विभाग की ओर से किया जाएगा। ट्रेन या मालगाड़ी में माल बुक होने के बाद आरपीएफ की जिम्मेदारी होगी। रेलवे एक्ट 137 और 138 के तहत कानूनी कार्रवाई करने पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। आरपीएफ को अब पूरी तरह से ट्रेनों में यात्रियों के साथ होने वाली चोरी, लूट आदि घटनाओं को रोकना होगा। पत्र में कहा गया है कि अगर कहीं आरपीएफ के अतिरिक्त जवान हों तो उन्हें रेल प्रशासन के अनुरोध पर चेकिंग टीम के साथ भेजा जाएगा।




वे चेकिंग टीम की सुरक्षा करेंगे। कानूनी कार्रवाई चेकिंग टीम को ही करनी होगी। प्रवर मंडल सुरक्षा आयुक्त अजित कुमार वर्णवाल ने बताया कि रेलवे बोर्ड का आदेश मिल गया है। मंडल के सभी आरपीएफ अधिकारियों को पत्र भेज दिया गया है।प्रदीप चौरसिया ’ मुरादाबाद 1आरपीएफ अब बेगारी का काम छोड़कर केवल यात्रियों और रेलवे संपत्ति की सुरक्षा करेगी। अवैध वेंडर और बिना टिकट यात्रियों को भी नहीं पकड़ेगी। अब इस काम की जिम्मेदारी वाणिज्य समेत अन्य विभागों को उठानी पड़ेगी। वर्तमान में आरपीएफ अवैध वेंडरों की चेकिंग करती है। इसके अलावा टिकट चेकिंग टीम में भी शामिल होना पड़ता है। बिना टिकट यात्रियों पर कानूनी कार्रवाई करने के साथ ही उन्हें जेल भी भेजना पड़ता है, जबकि इस काम के लिए आरपीएफ के जवान अधिकृत नहीं हैं। आरपीएफ का मुख्य काम यात्रियों और रेलवे की संपत्ति की सुरक्षा करनी है, लेकिन बेगारी का काम करने से यात्रियों व रेल संपत्ति की सुरक्षा ठीक तरह से नहीं हो पा रही थी। 1रेलवे बोर्ड के डायरेक्टर जनरल (आरपीएफ) धर्मेद्र कुमार ने देश भर के आरपीएफ अधिकारियों को पत्र भेजा है।




इसमें कहा है कि आरपीएफ के जवान टिकट चेकिंग, अवैध वेंडर पकड़ने आदि का काम नहीं करेंगे। वे केवल टिकट की कालाबाजारी करने वालों को पकड़ेंगे। टिकट चेकिंग और अवैध वेंडर को पकड़ने का काम वाणिज्य विभाग की ओर से किया जाएगा। ट्रेन या मालगाड़ी में माल बुक होने के बाद आरपीएफ की जिम्मेदारी होगी। रेलवे एक्ट 137 और 138 के तहत कानूनी कार्रवाई करने पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। आरपीएफ को अब पूरी तरह से ट्रेनों में यात्रियों के साथ होने वाली चोरी, लूट आदि घटनाओं को रोकना होगा। पत्र में कहा गया है कि अगर कहीं आरपीएफ के अतिरिक्त जवान हों तो उन्हें रेल प्रशासन के अनुरोध पर चेकिंग टीम के साथ भेजा जाएगा। वे चेकिंग टीम की सुरक्षा करेंगे। कानूनी कार्रवाई चेकिंग टीम को ही करनी होगी। 1प्रवर मंडल सुरक्षा आयुक्त अजित कुमार वर्णवाल ने बताया कि रेलवे बोर्ड का आदेश मिल गया है। मंडल के सभी आरपीएफ अधिकारियों को पत्र भेज दिया गया है।

RPF DUTIES

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.