ए1 कैटेगरी स्टेशनों पर तैनात होंगे यंग डायरेक्टर

| September 22, 2017

रेलवे के विभिन्न विभागों से होगा स्टेशन डायरेक्टरों का चयन, दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों के 75 स्टेशन हैं ए1 कैटेगरी के

देश के अति महत्वपूर्ण और अत्यधिक भीड़भाड़ वाले ए1 कैटगरी के स्टेशनों पर यंग डायरेक्टर तैनात किए जाएंगे। ये स्टेशन डायरेक्टर (स्टेशन निदेशक) रेलवे के विभिन्न विभागों से चयनित किए जाएंगे। अभी तक स्टेशन निदेशक के लिए केवल परिचालन विभाग से जुड़े अधिकारियों को तैनात करने का प्रावधान किया गया था।








दिल्ली, मुंबई सरीके बड़े शहरों में ए1 कैटगरी के 75 स्टेशन हैं, जहां पर इनकी तैनाती की जाएगी। रेलमंत्री पीयूष गोयल ने बड़े स्टेशनों पर यात्री सेवाएं एवं प्रबंधन बेहतर करने के निर्देश दिए हैं। इसी क्रम में रेलवे बोर्ड ने ए1 स्टेशनों पर बतौर निदेशक युवा अधिकारी तैनात करने के आदेश जारी किए हैं। इन अधिकारियों का चयन रेलवे के विभिन्न में तैनात अधिकारियों में से की जाएगी। अभी तक ए1 कैटगरी के स्टेशनों पर केवल परिचालन विभाग के अधिकारी तैनात होते थे, लेकिन अब मैकेनिकल, इंजीनियरिंग आदि विभागों के अधिकारियों को भी स्टेशन निदेशक बनने का मौका मिलेगा।




चयनित स्टेशन निदेशकों को विशेष तौर पर यात्रियों के साथ बेहतर व्यवहार और स्टेशन के विभागों के साथ समन्वय का प्रशिक्षण दिया जाएगा। स्टेशन निदेशकों को यात्रियों के साथ बात व्यवहार, यात्री सुविधाएं व शिकायतों, स्टेशन की सफाई, बुकिंग एवं रिजव्रेशन, ट्रेनों की समयबद्धता, ट्रेनों में रैक लगाना और हटाना, पार्सल, सुरक्षा और संरक्षा की जिम्मेदारी बतौर मुखिया के रूप में देखनी होगी। इनके अधीन आने वाले विभागों के कर्मचारियों के साथ उनका समन्वय होगा। ए1 कैटगरी के तहत नई दिल्ली, देहरादून, हावड़ा, मुंबई सीएसटी, विशाखापत्तन, मुगलसराय, आगरा कैंट, न्यू जलपाईगुड़ी, जोधपुर एवं चेन्नई सेंट्रल जैसे 75 स्टेशन शामिल हैं।




रेलकर्मियों की गलती से हुई थी उत्कल दुर्घटनाग्रस्त

नई दिल्ली (एसएनबी)। आखिकार यह सच सामने आ गया कि खतौली के निकट उत्कल एक्सप्रेस की दुर्घटना रेलकर्मियों की गलती से ही हुई थी। इस हादसे में 22 रेलयात्रियों की मृत्यु हो गयी थी जबकि 40 यात्री गंभीर रूप से घायल हो गये थे। इनके अलावा 66 यात्री मामूली रूप से जख्मी से हुए थे। इस आशय की प्रारम्भिक रिपोर्ट रेल संरक्षा आयुक्त (उत्तरी क्षेत्र) शैलेश कुमार पाठक ने दी। 19 अगस्त 2017 को 18477 पुरी-हरिद्वार उत्कल एक्सप्रेस पटरी से उतर गयी थी। इसकी जांच रेल संरक्षा आयुक्त शैलेश कुमार पाठक को सौंपी गयी थी।

AI CATEGORY

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.