कोलकर्मियों के रूपए 57000 बोनस

| September 21, 2017

सवा तीन लाख कोलकर्मियों को इस बार दुर्गापूजा में बंपर बोनस मिलने का रास्ता साफ हो गया है। हर कोलकर्मी को 57 हजार रुपये बोनस मिलेगा। कर्मियों के बैंक खाते में 26 सितंबर तक राशि डाल दी जाएगी।1मंगलवार को कोलकाता स्थित कोयला भवन में प्रबंधन के साथ चार श्रमिक संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक में बोनस की राशि पर सहमति बनी। इस बार कोल इंडिया के 3 लाख 16 हजार 210 कर्मियों को बोनस का लाभ मिलेगा। कोलकाता में साढ़े चार घंटे तक चली बैठक में प्रबंधन व यूनियन के बीच कड़ी सौदेबाजी के बाद 57 हजार रुपये पर बात बनी। गत वर्ष 54 हजार रुपया बोनस मिला था। इस वर्ष तीन हजार की बढ़ोतरी हुई है।








बता दें कि धनबाद जिले में कोल इंडिया की तीन इकाइयां हैं- बीसीसीएल, ईसीएल और सीएमपीडीआइएल। बीसीसीएल के करीब 50 हजार कर्मियों को बोनस का लाभ मिलेगा। इसके अलावा ईसीएल के 3500 और सीएमपीडीआइएल के लगभग 200 कर्मचारियों को भी बोनस का लाभ मिलेगा। बोनस मद में बीसीसीएल पर करीब 273 करोड़ का बोझ पड़ेगा। तीनों इकाइयों में कार्यरत सभी कोलकर्मियों को खाते में बोनस आने से धनबाद के बाजार में करीब 350 करोड़ रुपये की राशि आएगी।




बैठक में मौजूद अधिकारी : कोल इंडिया चेयरमैन प्रभारी गोपाल सिंह, डब्ल्यूसीएल सीएमडी व कोल इंडिया प्रभारी डीपी राजीव रंजन मिश्र, निदेशक वित्तीय सीके डे, सीएमपीडीआइएल सीएमडीजागरण संवाददाता, धनबाद : सवा तीन लाख कोलकर्मियों को इस बार दुर्गापूजा में बंपर बोनस मिलने का रास्ता साफ हो गया है। हर कोलकर्मी को 57 हजार रुपये बोनस मिलेगा। कर्मियों के बैंक खाते में 26 सितंबर तक राशि डाल दी जाएगी।1मंगलवार को कोलकाता स्थित कोयला भवन में प्रबंधन के साथ चार श्रमिक संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक में बोनस की राशि पर सहमति बनी। इस बार कोल इंडिया के 3 लाख 16 हजार 210 कर्मियों को बोनस का लाभ मिलेगा।




कोलकाता में साढ़े चार घंटे तक चली बैठक में प्रबंधन व यूनियन के बीच कड़ी सौदेबाजी के बाद 57 हजार रुपये पर बात बनी। गत वर्ष 54 हजार रुपया बोनस मिला था। इस वर्ष तीन हजार की बढ़ोतरी हुई है। 1बता दें कि धनबाद जिले में कोल इंडिया की तीन इकाइयां हैं- बीसीसीएल, ईसीएल और सीएमपीडीआइएल। बीसीसीएल के करीब 50 हजार कर्मियों को बोनस का लाभ मिलेगा। इसके अलावा ईसीएल के 3500 और सीएमपीडीआइएल के लगभग 200 कर्मचारियों को भी बोनस का लाभ मिलेगा।

बोनस मद में बीसीसीएल पर करीब 273 करोड़ का बोझ पड़ेगा। तीनों इकाइयों में कार्यरत सभी कोलकर्मियों को खाते में बोनस आने से धनबाद के बाजार में करीब 350 करोड़ रुपये की राशि आएगी। 1बैठक में मौजूद अधिकारी : कोल इंडिया चेयरमैन प्रभारी गोपाल सिंह, डब्ल्यूसीएल सीएमडी व कोल इंडिया प्रभारी डीपी राजीव रंजन मिश्र, निदेशक वित्तीय सीके डे, सीएमपीडीआइएल सीएमडी

coal-fb

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.