Railway presses panic button after frequent train accidents

| August 28, 2017

हादसों से सतर्क हुआ रेलवे, रेल कर्मचारियों से लिखित में लिया जा रहा आश्वासन

बीकानेर. पहले मुजफ्फरनगर में उत्कल एक्सप्रेस और अब औरैया में कैफियत एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद बीकानेर मंडल रेल प्रबंधन ने सख्त रवैया अपना लिया है। किसी तरह की कोताही नहीं हो इसके प्रयास किए जा रहे हैं। बीकानेर मंडल में प्रत्येक स्तर के कार्मिकों से लिखित में इस बात का आश्वासन लिया जा रहा है








कि किसी भी तरह की लापवाही नहीं बरती जाएगी। इसके लिए रेलवे के अधिकारी प्रत्येक स्तर के कार्मिकों से काउसिलिंग कर सजगता से ड्यूटी करने के लिए कह रहे हैं। वरिष्ठ मंडल अभियंता एन.के.शर्मा व अन्य अधिकारियों ने गुरुवार को कर्मचारियों से संवाद किया।

नियमित करनी होगी गश्त
रेलवे में की-मैन, मैन्टीनेंस गैंग, ट्रेकमैन को एक किमी तक नियमित रूप से रेलवे मार्ग पर गश्त करनी होगी। इसके साथ ही मैन्टीनेंस गैंग में कार्यरत कार्मिकों को भी नियमित रूप से रेलवे पटरियों का निरीक्षण करना होगा।




करना होगा औचक निरीक्षण
रेलवे के सहायक व कनिष्ठ अभियंताओं को ट्रेनों का औचक निरीक्षण करना होगा। इसमें अभियंताओं के अलावा रेलवे के उच्च अधिकारी भी शामिल है। रेलवे की यह टीम औचक रूप से किसी भी ट्रैक-ट्रेन में पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लेगी।

ये हैं संसाधन
हाल ही में हुई रेलवे की दो दुर्घटनाओं के बाद से अब रेल प्रबंधन हरकत में आ गया है। बीकानेर में भी संसाधनों को लेकर व्यवस्थाएं चाक-चौबंद की जा रही हैं। बीकानेर मंडल में अत्याधुनिक संसाधनों से युक्त रिलिफ ट्रेन है, इसके अलावा हाईड्रोलिक जैक मशीन है। यह व्यवस्थाएं लालगढ़, सूरतगढ़, भिवानी, हिसार, श्रीगंगानगर सहित बीकानेर मंडल के लगभग स्टेशनों पर है।




सख्त निर्देश दिए हैं
&किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। हर स्तर के कार्मिकों के साथ संवाद स्थापित किया जा रहा है। कार्मिकों के लिए इस संदर्भ में एक विशेष कार्यशाला आयोजित की जाएगी।
सीआर कुमावत, वरिष्ठ वाणिज्य मंडल प्रबंधक

चलेगा सदस्यता अभियान
बीकानेर ञ्च पत्रिका . विप्र व्यापार जगत की बैठक गुरुवार को हुई। योगेश कुमार बिस्सा की अध्यक्षता में हुई बैठक में आगामी दिनों में सदस्यता अभियान चलाने का निर्णय किया। बैठक में आगामी दिनों में आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों पर चर्चा की गई।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.