Railway to provide kitchen in every coach, new arrangements for passengers

| August 27, 2017

ट्रेनों में यात्रियों को ताजा और गर्म खाना उपलब्ध कराने की की जा रही है। इसके लिए रेलवे प्रशासन कोच में बदलाव करते हुए रसोई भी स्थापित करेगा। देशभर की 40 हजार बोगियों में यह व्यवस्था की जाएगी। 1कैग की रिपोर्ट से रेलवे की खानपान व्यवस्था की पोल खुलने के बाद मंत्रलय इसे सुधारने के लिए व्यापक प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। खानपान की जिम्मेदारी पूरी तरह से आइआरसीटीसी (इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कापरेरेशन) को सौंप दी गई है।








आइआरसीटीसी प्रमुख स्टेशनों पर बेस किचन में खाना तैयार कराएगा और यहीं से ट्रेनों में शुद्ध और ताजा खाना उपलब्ध कराया जाएगा। आइआरसीटीसी के सुझाव के बाद रेल प्रशासन ने बोगियों में किचन बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। नए कोच में किचन की व्यवस्था पहले से ही है जबकि पुराने कोच में एक शौचालय के स्थान पर रसोई बनाई जाएगी। नई व्यवस्था के बाद एक बोगी में तीन ही शौचालय रह जाएंगे। प्रमुख स्टेशनों के बेस किचन से प्रत्येक बोगी में गर्म खाना उपलब्ध कराया जाएगा।




बोगी के किचन में रोटी, आमलेट और चाय आदि बनाने के लिए इलेक्ट्रानिक चूल्हा होगा।चूल्हे का प्रयोग बेस किचन से तैयार मिले भोजन को गर्म रखने में भी किया जाएगा। यात्रियों को डिस्पोजल थाली में खाना परोसा जाएगा। पेंट्रीकार की उपयोगिता समाप्त होने के बाद इसकी जगह यात्री कोच लगाए जाएंगे। आइआरसीटीसी ने रेल मंडल में मुरादाबाद समेत सात प्रमुख स्टेशन पर बेस किचन बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। साथ ही ट्रेनों में यात्री बहुत कम इंग्लिश शौचालय का प्रयोग करते हैं।




लिहाजा इंग्लिश शौचालय के स्थान पर रसोई बनाएगा। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी नीरज शर्मा ने बताया कि ट्रेनों में बेस किचन से ताजा व शुद्ध खाना उपलब्ध कराया जाएगा।प्रत्येक कोच में एक शौचालय को हटाकर रसोई की व्यवस्था की जाएगी।

>नई व्यवस्था के तहत देश की 40 हजार कोचों में किया जा रहा बदलाव

>खानपान की जिम्मेदारी पूरी तरह से आइआरसीटीसी को सौंपी

railway kitchen

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.