Railway Running Staff shows serious resentment to Administration

| August 16, 2017

भूल गए है नेता व अधिकारी कि रेलवे की चाबी, लोको पायलट, सहायक लोको पायलट व गार्ड के पास होती है। जिस दिन हम चाबी को टाइट कर देंगे, उस दिन……

रायगढ़। भूल गए है नेता व अधिकारी कि रेलवे की चाबी, लोको पायलट, सहायक लोको पायलट व गार्ड के पास होती है। जिस दिन हम चाबी को टाइट कर देंगे। उस दिन रेलवे की पूरी व्यवस्थाएंं ठप पड़ जाएंगे। उक्त बातें ऑल इंडिया लोको रनिंग स्टॉफ एसोसिएशन व ऑल इंडिया गार्ड काउंसिल की रायगढ़ शाखा के पदाधिकारी व सदस्यों ने कहीं। जो सातवें वेतनमान में विसंगति, कमेटी द्वारा प्रस्तावित रनिंग एलाउंस सहित अन्य मांगों को पूरा करने को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। इस बीच रेल ड्राइवरों ने प्लेटफार्म पर विरोध मार्च भी निकाला।








ऑल इंडिया लोको रनिंग स्टॉफ एसोसिएशन व ऑल इंडिया गार्ड काउंसिल की रायगढ़ शाखा से जुड़े पदाधिकारी व सदस्यों ने संयुक्त रुप से अपनी मांगों को लेकर मोर्चा खोला है। पूर्व की तरह इस बार भी रेल ड्राइवर व गार्ड, सातवें वेतनमान की विसंगतियों को दूर करने सहित करीब आधा दर्जन मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। जिसमेंं रनिंग एलाउंस कमेटी द्वारा प्रस्तावित माइलेज रेट देने की मांग भी शामिल है। जिसके तहत १०० कि.मी की रनिंग ड्यूटी पर लोको पायलट को ७४८ जबकि सहायक लोको पायलट को ५९९ रुपए देने का प्रावधान है। पर उक्त एलाउंस केलागू होने के १८ माह बाद भी पुराने दर पर भुगतान किया जा रहा है। जो करीब ढाई से तीन गुना कम है।








प्लेटफार्म पर विरोध मार्च निकालने से पूर्व एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने लॉबी के बाहर अपने सहयोगी साथियों को संबोधित किया। जिसमें इस बात का भी उल्लेख किया गया कि उनकी मांगों को लंबे समय से नजरअंदाज किया जा रहा है। अगर ऐसी स्थिति बनी रहे तो रेल ड्राइवरों को भविष्य में उग्र होना पड़ेगा। एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ ही रेलवे बोर्ड के आला अधिकारी के तानाशाह व मनमाने रवैये के खिलाफ भी जमकर भड़ास निकाली। इस बीच यह भी नसीहत दी गई कि बोर्ड के अधिकारी व नेता भूल गए है कि रेलवे की चाबी, लोको पायलट व सहायक लोको पायलटों के पास रहती है। आम सभा को संबोधित करने के बाद रेल ड्राइवर व गार्ड ने प्लेटफार्म पर विरोध मार्च निकाला। इस बीच अरपीएफ व जीआरपी अलर्ट दिखे।

<p

p>

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.