हफ्ते में दो दिन बंद रहेंगे बैंक, 5 दिन जल्दी खुलकर देर से बंद होंगे!

| August 8, 2017

नई दिल्ली:- आम लोगों के लिए बैंकों के खुलने और बंद होने का समय बदल सकता है। मुमकिन है कि बैंक सुबह 10 बजे के बजाय 9:30 बजे खुले और शाम 4 बजे तक ग्राहकों के काम निपटाए जाएं। ऐसा हुआ तो बैंक कर्मचारी हफ्ते में सिर्फ 5 दिन काम करेंगे। हर शनिवार और रविवार को बैंक बंद रहेंगे। इस बारे में एक प्रस्ताव पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। बैंकों की संस्था इंडियन बैंक्स असोसिएशन (आईबीए) और बैंक यूनियनों के बीच पहले दौर की बातचीत हो चुकी है। इसी महीने दूसरे दौर की बातचीत के बाद अंतिम फैसला होने की संभावना है। अभी बैंक कर्मचारी आमतौर पर हर दिन करीब साढ़े छह घंटे काम करते हैं।








2 दिन का आराम हरेक हफ्ते मिले

हालिया बैठकों में बैंक यूनियनों ने कहा कि वे ग्राहकों को अतिरिक्त समय देने को तैयार हैं, पर उन्हें 5-डे वीक चाहिए। अभी बैंकों में हर दूसरे और चौथे शनिवार को छुट्टी रहती है। नैशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ बैंक वर्कर्स के उपाध्यक्ष अश्विनी राणा ने कहा कि समय बढ़े तो हर शनिवार की छुट्टी मिले।




सरकार: ग्राहक बढ़े हैं तो समय भी बढ़े

सरकार का मानना है कि बैंकों के पास ग्राहकों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे में बैंकों को कैश डिपॉजिट, नए खाते खुलवाना, एफडी बनवाना, एफडी तुड़वाना और पासबुक में एंट्री जैसे कामों के लिए ज्यादा समय देना चाहिए।
लेटेस्ट कॉमेंट

यूनियन की मांग पर सैद्धांतिक सहमति




सरकार बैंक यूनियनों की मांग से सैद्धांतिक रूप से राजी है। शनिवार को शेयर मार्केट बंद होता है और कारोबार से संबंधित कामकाज कम रहता है। हर शनिवार और रविवार बंद रहने से बैंकों की ऑपरेशनल कॉस्ट भी घट सकती है।

NBT का नजरिया

जिस दौर में 24×7 कामकाज की अनिवार्य जरूरत हो, वहां किसी सेक्टर में फाइव डेज वीक की मांग उठाना हैरान करता है। बैंकिंग से जुड़े बहुतेरे काम अभी भी बैंक जाए बिना पूरे नहीं होते। हर हफ्ते दो छुट्टियां उन्हें भारी पड़ सकती हैं जो शनिवार को अपने अवकाश पर बैंकिंग से जुड़े कामकाज निपटाते हैं। क्या कोई बैंक गवारा करेगा कि जिस दिन लोगों को उसकी सबसे ज्यादा जरूरत हो, उस रोज उसकी शाखाओं में सन्नाटा पसरा हो।

bank timings

Category: Banking, News

About the Author ()

Comments are closed.