Indian Bullet train to run before time

| July 7, 2017

वक्त से पहले पटरी पर दौड़ेगी बुलेट ट्रेन

नई दिल्ली : मोदी सरकार की मेगा परियोजनाओं में से एक बुलेट ट्रेन का निर्माण शुरू होने से पहले ही इसे वक्त से पहले लॉन्च करने की तैयारियां शुरू की गई है। हालांकि डिटेल प्रॉजेक्ट रिपोर्ट में बुलेट ट्रेन 2023 में शुरू करने का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन दिल्ली मेट्रो की तरह इसकी अलग पहचान बनाने के इरादे से अब इसे एक साल पहले 2022 में लॉन्च किया जाएगा। जापान से सस्ते लोन की राशि से बनने वाले इस प्रॉजेक्ट के तहत मुंबई और अहमदाबाद के बीच 500 किमी के कॉरिडोर में 300 प्लस किमी की स्पीड से ट्रेन चलाने का इरादा है।









जापान के तकनीकी अफसरों की टीम ने शुरू किया काम : बुलेट ट्रेन प्रॉजेक्ट को अमली जामा पहनाने वाली नैशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन के सूत्रों का कहना है कि भले ही प्रॉजेक्ट पर अभी जमीनी काम शुरू न किया गया हो, लेकिन 2022 तक बुलेट ट्रेन को पटरी पर उतारने की तैयारी शुरू कर दी गई हैं। जापान के तकनीकी अधिकारियों की बड़ी टीम पहले ही भारत आकर काम शुरू कर चुकी है। काम की रफ्तार का अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि बुलेट ट्रेन के रूट का अलाइनमेंट तय होने के बाद जिन रास्तों पर एलिवेटिड ट्रैक के लिए दूसरे विभागों की मंजूरी की आवश्यकता है, वहां एलिवेटिड लाइन की 42 ड्राइंग तैयार करके राज्य सरकारों को भेजी जा चुकी हैं।



एलिवेटिड लाइन से पहले एनओसी : ये ऐसी जगहों या चौराहों की ड्राइंग हैं, जहां एलिवेटिड लाइन बनाने से पहले दूसरे विभागों की एनओसी की जरूरत पड़ेगी। ऐसा इसलिए किया जा रहा है, ताकि जब तक बाकी प्रक्रिया पूरी हो, तब तक दूसरे विभागों से एनओसी हासिल कर ली जाए या फिर जरूरत पड़े तो लाइन के नक्शों में बदलाव कर लिया जाए। रेलवे के सूत्रों का कहना है कि सरकार भी चाहती है कि बुलेट ट्रेन को भी दिल्ली मेट्रो की तरह ही देश के सामने एक आइकन के रूप में पेश किया जाए। दिल्ली मेट्रो ने पहले 2 फेज में तय वक्त पर या वक्त से पहले प्रॉजेक्ट पूरा कर देश में वाहवाही बटोरी थी।




10 अफसर ट्रेनिंग के लिए गए जापान : नैशनल हाईस्पीड रेल कॉरपोरेशन के एमडी अचल खरे के अनुसार कोशिश की जाएगी कि बुलेट ट्रेन को तय वक्त से पहले ही चालू कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि इस प्रॉजेक्ट के लिए सबसे पहली तैयारी के रूप में कंपनी के 10 अफसरों की टीम को ट्रेनिंग के लिए पहले ही जापान भेजा जा चुका है।

चूंकि बुलेट ट्रेन के लिए सबसे जरूरी मैन पावर की ट्रेनिंग है इसलिए जल्द ही गांधी नगर में ट्रेनिंग सेंटर का निर्माण शुरू किया जाएगा ताकि ट्रेनिंग सेंटर 2020 तक तैयार हो जाए और उसके बाद इस ट्रेनिंग सेंटर में ही अन्य अधिकारियों को भी ट्रेनिंग दी जाए।
वक्त से पहले पटरी पर दौड़ेगी बुलेट ट्रेन
साल- 2023 का था टारगेट, अब 2022 में होगी लॉन्च

bullet before time fb

Source:- NBT

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.