7th Pay Commission Allowances – Benefits to Railway Employees, Central Govt. Employees and other Staff

| June 30, 2017

नई दिल्ली। मोदी सरकार की तरफ से सातवें वेतन आयोगी (7th Pay Commission) की 34 सिफारिशों को मंजूरी देने के बाद अब लोग यह सोच रहे हैं कि आखिर अलाउंस में कितनी बढ़ोत्तरी हुई है। आइए जानते हैं 1 जुलाई से लागू होने जा रहे सातवें वेतन आयोग के तहत भारतीय रेलवे के कर्मचारियों, नर्सों और पेंशनधारकों को कितना अलाउंस मिलेगा। साथ ही यह भी जानिए कि सभी केन्द्रीय कर्मचारियों को मिलने वाले भत्तों में कितनी बढ़ोत्तरी हुई है।








भारतीय रेलवे के कर्मचारियों को मिलने वाले अलाउंस

  • अतिरिक्त अलाउंस की दर को बढ़ा दिया गया है। पहले जो 500/1000 रुपए प्रति महीना थी, अब उसे 1125/2250 रुपए प्रति महीना कर दिया गया है। साथ ही अब इसके दायरे में लोको पायलट गुड्स और सीनियर पैसेंजर गार्ड्स को भी ला दिया गया है, जिसे 750 रुपए प्रति महीने के हिसाब से यह अलाउंस मिलेगा।
  • रेलवे के ट्रेन कंट्रोलर्स के लिए उनकी नौकरी की गंभीरता को देखते हुए स्पेशल ट्रेन कंट्रोलर अलाउंस नाम का नया अलाउंस शुरू किया गया है। इसके तहत ट्रेन कंट्रोलर्स को हर महीने 5000 रुपए का अलाउंस दिया जाएगा।




नर्सों और अस्पतालों के मिनिस्टीरियल स्टाफ को दिया जाने वाला अलाउंस

  • मौजूदा नर्सिंग अलाउंस को 4800 रुपए प्रति माह से बढ़ाकर 7200 रुपए प्रति माह कर दिया गया है।
  • ऑपरेशन थिएटर अलाउंस को 360 रुपए प्रति महीने से बढ़ाकर 540 रुपए प्रति महीना कर दिया गया है।
  • हॉस्पिटल पेशेंट केयर अलाउंस/पेशेंट केयर अलाउंस को 2070 रुपए – 2100 रुपए प्रति महीने से बढ़ाकर 4100 रुपए- 5300 रुपए प्रति महीना कर दिया गया है। यह
  • मिनिस्टीरयल स्टाफ को भी दिया जाएगा।

सभी केन्द्रीय कर्मचारियों को मिलने वाले अलाउंस




  • चिल्ड्रन एजुकेशन अलाउंस को 1500 रुपए प्रति महीने से बढ़ाकर 2250 रुपए प्रति महीना कर दिया गया है। यह अलाउंस सिर्फ दो बच्चों तक प्रति बच्चे के हिसाब से मिलता है, उससे अधिक के बच्चों के लिए यह अलाउंस नहीं दिया जाता है। इसके अलावा हॉस्टल सब्सिडी को भी 4,500 रुपए प्रति महीने से बढ़ाकर 6750 रुपए प्रति महीना कर दिया गया है।
  • डिसएबिलिटी वाली महिलाओं के बच्चों की देखभाल के लिए दिए जाने वाले स्पेशल अलाउंस को भी सातवें वेतन आयोग में बढ़ाकर दोगुना कर दिया गया है। यह पहले 1500 रुपए प्रति महीना था, जिसे अब बढ़ाकर दोगुना करते हुए 3000 रुपए कर दिया गया है।
  • सिविलियन्स के लिए हायर क्वालिफिकेशन इंसेंटिव को भी बढ़ा दिया गया है। यह पहले 2000-10000 रुपए था, जिसे अब बढ़ाकर 10000-30000 रुपए कर दिया गया है।

पेशनधारकों को दिए जाने वाले महत्वपूर्ण अलाउंस

  • पेंशनधारकों के लिए फिक्स्ड मेडिकल अलाउंस को बढ़ा दिया गया है। यह 500 रुपए प्रति महीने से बढ़ाकर 1000 रुपए प्रति महीना कर दिया गया है। इससे 5 लाख से भी अधिक केन्द्र सरकार के पेंशनधारकों को फायदा होगा, जिनके पास सीजीएचएस सुविधा नहीं है।
  • कॉन्सटैंट अटेंडेंस अलाउंस की दर को 4500 रुपए प्रति महीने से बढ़ाकर 6,750 रुपए प्रति महीना कर दिया गया है।

Source: One India

Category: News, Seventh Pay Commission

About the Author ()

Comments are closed.