अब नहीं होंगे ट्रेन हादसे, रेलवे बोर्ड ने उठाया यह मत्तवपूर्ण कदम

| June 23, 2017

अक्सर ट्रेन दूर्घटनाओं में कईं लोगो की जाने जाती हैं जिसको देखते हुए इसका कोई उपाय निकाले जाना बहुत ज़रूरी हो गया था। इसी कारण रेल बोर्ड ने इन घटनाओं पर रोक लगाने के लिए…

railway locomotives

नई दिल्ली: आज कल आए दिन हमें ट्रेन हादसों की खबरें सुनने को मिलती हैं, लेकिन अब इन हादसों से बचने के लिए रेलवे बोर्ड ने एक महत्तवपूर्ण कदम उठाया है। जिसमें ट्रेन की दो बोगियों को आपस में जोड़ने के लिए अब सेंट्रल बफर कपलर लगाए जाएंगे। यह कपलर कोच में पहले से लगे साइड बफर को हटा के लगाए जाएंगे। रेलवे बोर्ड ने इसके निर्माण के लिए करीब 24 यांत्रिक कारखानों को बनाने के निर्देश दिए हैं।








इन सेंट्रल बफर कपलर से ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त होने पर भी उसकी दो बोगियां आपस में एक दूसरे पर नहीं चढ़ेंगी। अक्सर ट्रेन दूर्घटनाओं में कईं लोगो की जाने जाती हैं जिसको देखते हुए इसका कोई उपाय निकाले जाना बहुत ज़रूरी हो गया था। इसी कारण रेल बोर्ड ने इन घटनाओं पर रोक लगाने के लिए मालगाड़ी की तरह यात्री कोच में भी यह सेंट्रल बफर कपलर लगाने के निर्देश दिए हैं।




रेल के कोचों का एक दूसरे पर चढ़ने का कारण उसमें लगा साइड बफर था जो कि किसी  भी दूर्घटना के समय उसका झटका सह नहीं पाते थे और उसमें लगी कपलिंग भी टूट जाती थी। जिस कारण उन्हें हटाने के निर्देश दिए गए हैं।




कपलिंग एक तरह का हुक ही होता है और साइड बफर कोचों के बीच के झटकों को बचाने के लिए एक तरह के शॉकर का काम करता है। अभी इन सेंट्रल बफर सिस्टम को केवल कुछ ही पैसेंजर ट्रेनों में लगाने के आदेश हैं। यह एक स्प्रिंग की तरह होता है जिसके द्वारा दो बोगियों को जोड़ा जाता है। अक्टूबर में इस काम की शुरूआत हो जाएगी।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.