Government may raise Income Tax limit

| May 25, 2017

इनकम टैक्स छूट की सीमा 2.5 की जगह हो सकती है 3 लाख: SBI रिपोर्ट

income tax changes








केन्द्र सरकार आगामी बजट में प्रत्यक्ष करों में फेरबदल कर सकती है। इस बजट में आयकर छूट सीमा केा 2.5 लाख रुपये से बढ़ाकर तीन लाख रुपये कर सकती है। भारतीय स्टेट बैंक की शोध रिपोर्ट ‘ईकोरैप’ के अनुसार, नोटबंदी के बाद देश में बने हालात को देखते हुए सरकार अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन देने के लिए प्रत्यक्षकरों में फेरबदल कर सकती है।

एसबीआई की एक शोध रिपोर्ट के मुताबिक, बैंकों में 5 साल की सावधि जमा के बजाय 3 साल की सावधि जमा पर कर छूट दी जा सकती है। आवास ऋण के ब्याज पर मिलने वाली कर छूट सीमा 2 लाख से बढ़कर 3 लाख रुपये की जा सकती है। रिपोर्ट के अनुसार, आयकर की धारा 80सी के तहत विभिन्न निवेश और बचत पर मिलने वाली छूट सीमा भी बढ़ाई जा सकती है। आवास ऋण के ब्याज पर भी कर छूट की सीमा बढ़ सकती है।




एसबीआई की यह रिपोर्ट मुख्य आर्थिक सलाहकार और महाप्रबंधक आर्थिक शोध विभाग सौम्या कांती घोष ने तैयार की है। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘इस तरह की छूट देने से सरकारी खजाने पर 35,300 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। शोध के अनुसार आय घोषणा योजना (आईडीएस) के तहत करीब 50,000 करोड़ रुपये की कर वसूली और नोटबंदी की वजह से निरस्त देनदारी के तौर पर करीब 75,000 करोड़ रुपये का राजस्व मिलने की उम्मीद है।

टैक्स की क्या है अभी की स्थिति




– 2.5 लाख रुपये तक की व्यक्तिगत आय पर कोई कर नहीं है।
– 2.5 लाख रुपये से 5 लाख तक 10 प्रतिशत
– 5 से 10 लाख रुपये तक की वार्षिक आय पर 20 प्रतिशत
– 10 लाख रुपये से अधिक की आय पर 30 प्रतिशत की दर से आयकर लगता है

Source:- Hindustan

Category: Finance Ministry, Income Tax, News

About the Author ()

Comments are closed.