Know the difference between New and Old Pension Schemes

| May 22, 2017

हमारे बहुत से साथी नयी पेंशन योजना व पुरानी पेंशन योजना में अन्तर नहीं जानते आज मैं आप को इसका अन्तर स्पष्ट करने की कोशिश करूगाँ –
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷
तो आइए देखते हैं दोनो में अन्तर –

pension new and old
1-पुरानी पेंशन पाने वालों के लिए जी0 पी0 एफ0 सुविधा उपलब्ध है जबकि नयी पेंशन योजना में जी0 पी 0एफ0 नहीं है ।
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷
2-पुरानी पेंशन के लिए वेतन से कोई कटौती नहीं होती है जबकि नयी पेंशन योजना में वेतन से प्रति माह 10%की कटौती निर्धारित है ।
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷








3-पुरानी पेंशन योजना में रिटायरमेन्ट के समय एक निश्चित पेंशन( अन्तिम वेतन का 50%) की गारेण्टी है जबकि नयी पेंशन योजना में पेंशन कितनी मिलेगी यह निश्चित नहीं है यह पूरी तरह शेयर मार्केट व बीमा कम्पनी पर निर्भर है ।
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷
4-पुरानी पेंशन सरकार देती है जबकि नयी पेंशन बीमा कम्पनी देगी । यदि कोई समस्या आती है तो हमे सरकार से नहीं बल्कि बीमा कम्पनी से लडना पडेगा ।
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷
5-पुरानी पेंशन पाने वालों के लिए रिटायरमेंट पर ग्रेच्युटी( अन्तिम वेतन के अनुसार 16.5माह का वेतन) मिलता है जबकि नयी पेंशन वालों के लिये ग्रेच्युटी की व्यवस्था सरकार ने हाल ही में की है जिसकी जानकारी भी नीचे उपलब्ध है ।
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷
6-पुरानी पेंशन वालों को सेवाकाल में मृत्यु पर डेथ ग्रेच्युटी मिलती है जो 7पे कमीशन ने 10लाख से बढाकर 20लाख कर दिया है जबकि नयी पेंशन वालों के लिए डेथ ग्रेच्युटी की सुविधा अभी हाल ही में की गयी है ।
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷




7-पुरानी पेंशन में आने वाले लोंगों को सेवाकाल में मृत्यु होने पर उनके परिवार को पारिवारिक पेंशन मिलती है जबकि नयी पेंशन योजना में पारिवारिक पेंशन को समाप्त कर दिया गया है, लेकिन सरकार इस पर भी विचार कर रही है, कुछ  ।
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷
8-पुरानी पेंशन पाने वालों को हर छ: माह बाद महँगाई तथा वेतन आयोगों का लाभ भी मिलता है जबकि नयीपेंशन में फिक्स पेंशन मिलेगी महँगाई या वेतन आयोग का लाभ नहीं मिलेगा यह हमारे समझ से सबसे बडी हानि है ।
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷
9-पुरानी पेंशन योजना वालों के लिए जी0 पी0 एफ0 से आसानी से लोन लेने की सुविधा है जबकि नयी पेंशन योजना में लोन की कोई सुविधा नही है( विशेष परिस्थिति में कठिन प्रक्रिया है केवल तीन बार वह भी रिफण्डेबल) ।
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷




11-पुरानी पेंशन योजना में जी0 पी0 एफ0 निकासी( रिटायरमेंट के समय) पर कोई आयकर नहीं देना पडता है जबकि नयी पेंशन योजना में जब रिटायरमेंट पर जो जो अंशदान का 60%वापस मिलेगा उसपर आयकर लगेगा 🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷
12-जी 0पी0एफ0पर ब्याज दर निश्चित है जबकि एन0 पी0 एस0 पूरी तरह शेयर पर आधारित है ।
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷
🙏 साथियों आशा है आप इस अन्तर को समझेगें और अपने भले -बुरे का विचार जरूर करेगें ।

नयी पेंशन पर और जानकारी

नई पेंशन स्कीम के तहत नियुक्त केंद्रीय कर्मियों के लिए राहत वाली खबर है। उन्हें भी पुराने पेंशनरों की तरह रिटायरमेंट और डेथ ग्रेच्युटी का लाभ मिलेगा। नई पेंशन स्कीम लागू होने के बाद तय नहीं था कि इसके तहत नियुक्त कर्मियों को ग्रेच्युटी मिलेगी या नहीं।

इस पर असमंजस की स्थिति बनी हुई थी लेकन अब इस बाबत स्पष्ट रूप से दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं और कहा गया है कि नई पेंशन स्कीम से आच्छादित कर्मचारी भी ‘रिटायरमेंट ग्रेच्युटी और डेथ ग्रेच्युटी’ के लिए अर्ह होंगे।
केंद्रीय विभागों में जिनकी नियुक्त एक जनवरी 2004 या उसके बाद हुई है, वे कर्मचारी नई पेंशन स्कीम में शामिल हैं।

नई पेंशन स्कीम लागू होने के बाद कर्मचारियों के लिए सामान्य भविष्य निधि (जीपीएफ) की व्यवस्था समाप्त कर दी गई है। ऐसे कर्मचारियों के वेतन से अब जीपीएफ की कटौती नहीं की जाती है। वेतन से सिर्फ पेंशन फंड के लिए कटौती होती है।
नई पेंशन नीति लागू होने पर कई दिनों तक यह भी स्पष्ट नहीं हो सका कि कर्मचारियों को जीपीएफ का लाभ मिलेगा या नहीं लेकिन बाद में स्थिति साफ की गई और तय हुआ कि वेतन से सिर्फ पेंशन फंड के लिए कटौती की जाएगी। जीपीएफ का लाभ उन्हें नहीं मिलेगा।

इसी तरह ग्रेच्युटी को लेकर भी अब तक उहापोह की स्थिति बनी हुई थी। नई पेंशन स्कीम लागू होने के बाद कहीं भी स्पष्ट नहीं किया गया था कि इस स्कीम के तहत नियुक्त कर्मचारियों को ग्रेच्युटी मिलेगी या नहीं लेकिन अब केंद्रीय पेंशन एवं पेंशनर्स कल्याण विभाग ने दिशा-निर्देश जारी करते हुए स्थिति स्पष्ट कर दी है, जिसके मुताबिक सरकार ने निर्णय लिया है कि नई पेंशन स्कीम से आच्छादित कर्मचारी भी सेंट्रल सिविल सर्विस (पेंशन) रूल, 1972 से अच्छादित कर्मचारियों की तरह ‘रिटायरमेंट ग्रेच्युटी और डेथ ग्रेच्युटी’ के हकदार होंगे।

यानी नई पेंशन स्कीम के तहत नियुक्त कर्मियों को भी ग्रेच्युटी मिलेगी।

Category: News, NPS, Pensioners

About the Author ()

Comments are closed.