चलती ट्रेन में महिलायों की सुरक्षा सर्वोपरि

| September 11, 2014

लखनऊ (एसएनबी)। प्रदेश के नवनियुक्त अपर पुलिस महानिदेशक रेलवे जावीद अहमद ने बुधवार को प्रदेशभर के जीआरपी अधिकारियों को सख्त निर्देश दिये कि अपराधों पर नियंतण्रमें नाकाम अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि चलती ट्रेनों में महिलाओं की सुरक्षा सवरेपरि हैं, इसमें किसी प्रकार की कोताही नहीं बरती जाएगी। जीआरपी से अवैध वेण्डरों को समाप्त कर दिया जाए तो अपराधों में अपने आप कमी आ जाएगी। श्री अहमद बुधवार को जीआरपी मुख्यालय (इंदिरा भवन) में आयोजित प्रदेशभर के आला अफसरों व प्रभारी निरीक्षकों की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। अपराधों पर नियंतण्रके लिए बुलायी गयी इस अहम बैठक में एडीजी /आईजी रेलवे आशीष गुप्ता, एसएन सावंत, एलवी एंटोनी, डीआईजी रेलवे, इलाहाबाद, लखनऊ, मुरादाबाद, झांसी, गोरखपुर एसपी रेलवे, एडीजी रेलवे के स्टाफ अफसर वीरेन्द्र कुमार, डिप्टी एसपी रेलवे और प्रदेशभर के प्रभारी निरीक्षक शामिल थे। उन्होंने कहा कि जीआरपी का ऐसा सुरक्षा इंतजाम हो कि मुसाफिर स्टेशन पर प्रवेश करने से लेकर अपने गंतव्य तक पूरी तरह से महफूज रहें। साथ ही यात्रियों को यह भी अहसास हो कि जीआरपी उनकी मददगार है। एडीजी रेलवे ने कहा कि अवैध वेण्डरों, जहरखुरानों, अटैची लिफ्टरों, चेन स्नेचरों, लुटेरे व डकैतों के खिलाफ लगातार विशेष अभियान चलाकर सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने अफसरों को इस बात की सख्त हिदायत दी कि स्टेशनों व चलती ट्रेनों में महिलाओं की सुरक्षा में किसी प्रकार की भी कोताही न बरती जाए। उन्होंने बताया कि चलती ट्रेनों में छेड़खानी करने वाले अराजकतत्वों पर लगातार निगरानी रखकर प्रभावी कार्रवाई करने को कहा। उन्होंने कहा कि चलती ट्रेनों में यात्रियों की सुरक्षा के लिए तैनात किये गये एस्कोर्टकर्मी अब प्रत्येक स्टेशन पर ‘नाइट’ या ‘डे’ अफसर को रिपोर्ट करके ट्रेन की कुशलता बताएंगे। साथ ही एस्कोर्टकर्मियों की कार्यपण्राली पर नजर रखने के लिए अफसरों द्वारा औचक निरीक्षण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि चारबाग (लखनऊ) के बाद अब गाजियाबाद, बरेली, कानपुर व इलाहाबाद स्टेशनों परिसरों में नो पार्किग में वाहन खड़ा करने वालों के खिलाफ ई-चालान की व्यवस्था लागू करायी जाएगी। उन्होंने बताया कि जीआरपी सिटिजन आई के व्हाट्सएप पर मिलने वाली शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई, थानों व चौकियों की स्थिति में सुधार व फारेंसिक विभाग द्वारा पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षण दिलाया जाएगा। अवैध वेण्डरों पर पूरी तरह कसे वैिक, कर्मभूमि एक्सप्रेस डकैती काण्ड को इन्होंने ने दिया था अंजाम जीआरपी सिटिजन आई के व्हाट्स अप पर आयी सूचनाओं पर त्वरित व प्रभावी की जाए कार्रवाई लखनऊ के बाद गाजियाबाद, बरेली, इलाहाबाद व कानपुर में लागू होगी ई-चालान की व्यवस्था राजकीय रेलवे पुलिस सूबे में कहां-कहां होते हैं कौन से ज्यादा अपराध स्टेशनों का नाम अपराध मुरादाबाद, सहारनपुर डकैती/लूट आगरा,इटावा डकैती/लूट झांसी, इलाहाबाद जहरखुरानी मुगलसराय-मुरादाबाद जहरखुरानी इलाहाबाद, झांसी चोरियां गोरखपुर-गाजियाबाद चोरियां नोट :- अपराधों का चिह्नीकरण एडीजी रेलवे ने हाल में ही कराया है। हेल्पलाइन पर मिलेगी एस्कोर्टकर्मियों की लोकेशन लखनऊ। एडीजी रेलवे ने बताया कि जीआरपी एस्कोर्टकर्मियों की लोकेशन व ट्रेन की कुशलता रिपोर्ट बताने के लिए एक माह के अंदर हेल्पलाइन खोली जाएगी।

53323916

Category: Indian Railways

About the Author ()

Comments are closed.